[gtranslate]
Country

तहलका स्टिंग में मेजर जनरल को कैद की सजा

लगभग 18 बरस पहले देश की राजनीति में ‘तहलका’ साप्ताहिक पत्रिका के एक स्टिंग आॅपरेशन के चलते भूचाल आ गया था। 2001 में हुए इस अन्डर कवर को ‘तहलका’ ने ‘आॅपरेशन वेस्ट एन्ड’ का नाम दिया था। अब जाकर सीबीआई की एक विशेष अदालत ने इस मामले में चार्ज शीट किए गए थल सेना के सेवानिवृत्त मेजर जनरल एसपी मुरगई को तीन साल की कैद की सजा सुनाई है। विशेष न्यायाधीश शैलेंद्र मलिक ने अपने आदेश में पूर्व आएएएस एसएम मेहता एवं पूर्व मेजर जनरल पीएल के चैधरी की गवाही को आधार बनाते हुए मेजर जनरल (सेवानिवृत्त) एसपी मुरगई को छदम वेशधारी पत्रकारों से सत्तर हजार रिश्वत लेने का आरोपी माना है।

गौरतलब है कि मुरगई 2001 में थल सेना की खरीद देखने वाले विभाग में कार्यरत थे। उन्होंने इन पत्रकारों की मुलाकात रक्षा मंत्रालय में तैनात अतिरिक्त सचिव एसएम मेहता के पास मिलाने ले गए थे। कोर्ट ने माना कि किसी प्राईवेट कंपनी के प्रतिनिधि को एक वरिष्ठ आईएएस अधिकारी के घर ले जाने, वह भी बगैर अनुमति के स्पष्ट करता है कि मुरगई का उद्देश्य सही नहीं था।

You may also like

MERA DDDD DDD DD