[gtranslate]
Country

खाम थ्योरी के जनक और गुजरात के चार बार CM रहे माधव सिंह सोलंकी का निधन 

चार बार गुजरात के मुख्यमंत्री रह चुके और कांग्रेस के दिग्गज नेता माधव सिंह सोलंकी का आज निधन हो गया। वह 93 साल के थे। माधव सोलंकी ने आज सुबह अंतिम सांस ली। सोलंकी को खाम थ्योरी के लिए भी जाना जाता है। देश में सोशल इंजनियरिंग का पहला प्रयोग भी उन्होंने ही किया। जिसकी बदौलत वह 1980 के बाद के तीन चुनाव जीतकर मुख्यमंत्री रहे।
देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर माधव सिंह सोलंकी के निधन पर शोक व्यक्त करते हुए लिखा है कि उन्हें समाज के लिए उनकी समृद्ध सेवा के लिए याद किया जाएगा। जबकि कांग्रेस के युवराज राहुल गांधी ने भी ट्वीट किया और शोक व्यक्त करते हुए लिखा है कि माधव सिंह सोलंकी के निधन से दुखी हूं। उन्हें कांग्रेस की विचारधारा को मजबूत करने और सामाजिक न्याय को बढ़ावा देने में उनके योगदान के लिए हमेशा याद किया जाएगा। उनके परिवार और दोस्तों के प्रति संवेदना।
 क्षत्रिय समुदाय से आने वाले माधव सिंह सोलंकी पेशे से वकील थे। आणंद के नजदीक बोरसाड कस्बे में जन्में सोलंकी पहली बार 1977 में मुख्यमंत्री बने। इसके बाद 1980 के चुनाव में सोलंकी के नेतृत्व में पार्टी ने 182 में से 141 सीटें जीतकर प्रचंड बहुमत हासिल किया था। इस चुनाव में बीजेपी को सिर्फ 9 सीटें मिली थीं।

माधव सिंह सोलंकी भारत के विदेश मंत्री का पद भी संभाल चुके थे। सोलंकी को खाम थ्योरी का जनक भी माना जाता है। खाम यानी क्षत्रिय, हरिजन, आदिवासी और मुस्लिम। इसी जातिगत समीकरण के दम पर वो 1980 के दशक में गुजरात की सत्ता में आए थे।

You may also like

MERA DDDD DDD DD