[gtranslate]
Country

इजराइली दूतावास के पास बम धमाके के बाद मिला पत्र, लिखा – यह तो एक ट्रेलर है

दिल्ली में इजराइली दूतावास के पास कल शाम करीब 5 बजे बम धमाका हुआ। दूतावास की इमारत से करीब 150 मीटर की दूरी पर हुए इस धमाके में कोई घायल नहीं हुआ, लेकिन आसपास खड़ी चार से पांच गाड़ियों को नुकसान पहुंचा। इजराइल ने इसे आतंकी हमला करार दिया है।  दिल्ली के अति सुरक्षित इलाके में हुए इस ब्लास्ट के बाद देशभर के 63 एयरपोर्ट्स पर हाई अलर्ट घोषित कर दिया गया है। जबकि दूसरी तरफ ग्रह मंत्री अमित शाह ने इसके चलते अपना बंगाल का दौरा रद्द कर दिया है।
 इस बम धमाके को लेकर चिंता इसलिए भी बढ़ गई है क्योंकि कल ही भारत-इजराइल के कूटनीतिक रिश्तों की 29वीं सालगिरह थी। इसी दौरान इस बम धमाके ने दोनों देशो की नींद  उड़ा दी है। हालाँकि पहले की तरह इस बार भी इस बम धमाके में ईरान का हाथ होने की आशंका व्यक्त की जा रही है। पूर्व में भी इज़रायल ने इस हमले के लिए ईरान को ज़िम्मेदार ठहराया था।  सूत्रों के मुताबिक दिल्ली पुलिस को दूतावास के पास सेसीटीवी कैमरे में दो सदिग्ध दिखाई दिए है जो एक कैब से उतारते नजर आ रहे है। वहा पुलिस को एक चिठ्ठी भी मिली है। इस चिट्ठी में सुलेमानी के अलावा एक और शख्स का नाम लिखा है, जिसे ईरान ने शहीद का दर्जा दिया है। इस लेटर को इजरायल के राजदूत को संबोधित किया गया है। पत्र में कहा गया है कि ये एक “ट्रेलर” था। जिसमें ईरान का शक्तिशाली जनरल और एक वैज्ञानिक का नाम है।
  ये दूसरा मौका है जब दिल्ली में इजरायल के दूतावास को निशाना बनाने की कोशिश की गई है। याद रहे कि इससे पहले साल 2012 में इजरायल के राजनयिक तेल येहोशुआ और भारत के ड्राइवर एक ब्लास्ट में घायल हुए थे। ये एक मैगनेटिक ब्लास्ट था।  इस हादसे में ये दूसरा मौका है जब दिल्ली में इजरायल के दूतावास को निशाना बनाने की को चार लोग घायल हुए थे। उस वक्त भी इज़रायल ने इस हमले के लिए ईरान को ज़िम्मेदार ठहराया था।  सूत्रों के मुताबिक इस चिट्ठी में सुलेमानी के अलावा एक और शख्स का नाम लिखा है। जिसे ईरान ने शहीद का दर्जा दिया है। इस पत्र को इजरायल के राजदूत को संबोधित किया गया है। पत्र में कहा गया है कि ये एक “ट्रेलर” था। जिसमें ईरान का शक्तिशाली जनरल और एक वैज्ञानिक का नाम है।

You may also like

MERA DDDD DDD DD