[gtranslate]
Country

निर्भया को न्याय दिलाने वाली वकील सीमा कुशवाहा निशुल्क लडेगी हाथरस गैंगरेप पीड़िता की लडाई

आज से 8 साल पहले दिल्ली में हुए निर्भया कांड को लेकर चर्चाओं में आई सुप्रीम कोर्ट की अधिवक्ता सीमा कुशवाहा अब हाथरस गैंगरेप पीड़िता की लड़ाई लड़ेगी । 3 दिन पहले वह गैंगरेप पीड़िता के परिजनों से मिलने हाथरस स्थित उनके गांव पहुंची थी। लेकिन पुलिस ने तब उन्हें बैरिकेड लगाकर रोक दिया था। फिलहाल वह परिजनों से मुलाकात करने में सफल हुई।

 इसी के साथ ही सीमा कुशवाहा ने हाथरस गैंगरेप पीड़िता के परिजनों से इस लड़ाई को निशुल्क लड़ने का वादा किया। जिस पर गैंगरेप पीड़िता के परिजन सहमत हो गए। इसके बाद पीड़िता के परिवार ने न्यायालय में इस लड़ाई को लड़ने के लिए सुप्रीम कोर्ट के अधिवक्ता सीमा कुशवाहा को स्वीकृति दे दी। इसी के साथ ही पीड़िता के परिजनों ने व ताला में वकालतनामें पर दस्तखत कर दिए।
 गौरतलब है कि वर्ष 2012 में दिल्ली में एक बहुचर्चित निर्भया कांड हुआ था। जिस में चलती बस में छात्रा के साथ गैंगरेप हुआ था। बाद में उसकी मौत हो गई थी। इस मामले में परिवार को न्याय दिलाने में अधिवक्ता सीमा कुशवाहा ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। इसी वर्ष 20 मार्च को निर्भया के चारों दोषियों मुकेश सिंह,  अक्षत सिंह ठाकुर, पवन कुमार गुप्ता और विनय कुमार शर्मा को फांसी दे दी गई।
 फिलहाल, अधिवक्ता सीमा कुशवाहा इस मामले पर पीड़ित परिवार के साथ खुलकर आ गई है । उन्होंने कहा कि पहले बेटी को मार दिया गया फिर प्रशासन ने उन्हें जबरन जला दिया। अब जातीय गोलबंदी के कारण परिवार में दहशत है। आरोपियों का परिवार साम-दाम-दंड-भेद अपना रहा है । सरकार ने पीड़ित परिवार को आर्थिक मदद का ऐलान किया है। लेकिन मीडिया में केस बंद होते ही केस को दूसरी तरफ डायवर्ट करने का प्रयास किया जा सकता है।

You may also like

MERA DDDD DDD DD