[gtranslate]
Country

बच्चों की वैक्सीन कोवोवैक्स को मिली WHO से मंजूरी

सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया के कोवोवैक्स वैक्सीन के आपातकालीन उपयोग को विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा मंजूरी दे दी गई है। सीरम इंस्टीट्यूट के मुख्य कार्यकारी अधिकारी अदार पुनावाला ने यह जानकारी ट्वीट की है। कंपनी ने साफ कर दिया है कि कोवोवैक्स वैक्सीन कोरोना के खिलाफ लड़ाई में अहम भूमिका निभाएगी।

कोवोवैक्स भारत में तीसरा टीका है जिसे कोविशील्ड और कोवैक्सीन के बाद आपातकालीन उपयोग के लिए अनुमोदित किया गया है। टीके के आपातकालीन उपयोग को अब मंजूरी दे दी गई है, जिससे 18 वर्ष से कम उम्र के बच्चों का टीकाकरण करना आसान हो गया है।

यह भी पढ़ें : ओमिक्रोन से दहला ब्रिटेन, बेहाल हुआ अमेरिका

कोवोवैक्स के पहले बैच का उत्पादन सीरम इंस्टीट्यूट, पुणे द्वारा शुरू किया जा चुका है, जो देश की सबसे बड़ी वैक्सीन निर्माण कंपनी है। सीरम इंस्टीट्यूट ने ट्वीट कर नई सफलता हासिल करने की बात कही है। नोवावैक्स ने कोरोना वैक्सीन के पहले बैच का उत्पादन शुरू कर दिया है, जिसे संस्थान के अनुसार कोवोवैक्स नाम दिया गया है।

कोरोना को फैलने से रोकने के लिए राष्ट्रीय कोरोना टीकाकरण कार्यक्रम के तहत पात्र लोगों का टीकाकरण किया जा रहा है। वर्तमान में 18 वर्ष से कम आयु के सभी लोगों का टीकाकरण किया जा रहा है। इसलिए निकट भविष्य में बच्चों का टीकाकरण किया जाएगा।

You may also like

MERA DDDD DDD DD