[gtranslate]
Country

दिल्ली का दुर्भाग्य, 9 हत्याओं पर केजरीवाल और पुलिस में ट्वीट युद्ध जारी 

इसे देश की राजधानी दिल्ली का यह दुर्भाग्य ही कहा जाएगा कि एक तरफ तो यहा की जनता अपराधियों का शिकार हो रही है।  आए दिन लोग मौत के घाट उतारे जा रहे है । जबकि दुसरी तरफ सरकार और पुलिस जनता की सुरक्षा के इंतजामात करने की बजाय एक दुसरे पर आरोप – प्रत्यारोप लगाकर राजनीति कर रहे है। दिल्ली पुलिस केन्द्र सरकार के अधीन आती है । इस बात का मलाल केजरीवाल को हर वक्त सताता है। खासकर तब जब राजधानी में ताबडतोड अपराधिक घटनाए घटती है। इस बार भी ऐसा ही हुआ है। लेकिन इस बार इस मामले में सरकार और पुलिस एक दूसरे को ट्वीट करके जनता की जान की सलामती तक लेने से कतराती नजर आ रही है। दिल्ली पुलिस अपराध नियंत्रण करने की बजाय आंकडे बाजी करके केजरीवाल को जवाब दिया है।
फलस्वरुप दिल्ली में लगातार हो रही हत्याओं को लेकर सीएम अरविन्द केजरीवाल ने दिल्ली पुलिस पर हमला बोला । दिल्ली पुलिस ने भी केजरीवाल को करारा जवाब दिया । दरअसल, केजरीवाल ने दिल्ली पुलिस से सवाल किया कि लोग सुरक्षा के लिए किसका दरवाजा खटखटाएं? इसके जवाब में दिल्ली पुलिस ने आंकड़ों के माध्यम से केजरीवाल को बताया कि दिल्ली में क्राइम की दर में निरंतर गिरावट हो रही है ।
उल्लेखनीय है कि पिछले दो दिनों में तीन अलग-अलग वारदातों में नौ हत्याएं हो चुकी हैं । आम आदमी पार्टी (आप) ने इन वारदातों को लेकर बिगड़ती कानून एवं व्यवस्था के लिये केंद्र सरकार पर हमला बोला । दिल्ली के सीएम केजरीवाल ने कहा कि राजधानी में गंभीर अपराध बढ़ते जा रहे हैं । उन्होंने कहा कि इस तरह के मामले में जनता सुरक्षा के लिए किसका दरवाजा खटखटाए ?
जबकि आम आदमी पार्टी ने दिल्ली की बिगड़ती कानून – व्यवस्था के लिये भारतीय जनता पार्टी तथा इसके सांसदों, उप राज्यपाल तथा केंद्रीय गृह मंत्री को भी जिम्मेदार ठहराया ।
केजरीवाल ने ट्वीट करते हुए लिखा है कि  दिल्ली में गंभीर अपराधों में खतरनाक वृद्धि देखी जा रही है । एक बुजुर्ग दंपति और उनका नौकर वसंत विहार में मृत अवस्था में पाया गया । दिल्ली में पिछले 24 घंटे में नौ हत्याएं हो चुकी हैं । दिल्ली वालों की सुरक्षा के लिये किसका दरवाजा खटखटाया जाना चाहिये?
इसके जवाब में दिल्ली पुलिस ने ट्वीट करके कहा है कि दिल्ली में इस तरह अपराध नहीं बढ़ा है । इस वर्ष 2018 की तुलना में जघन्य अपराध 10 फीसद कम हुए हैं । इसी तरह बुजुर्गों के खिलाफ जघन्य अपराध 22 फीसद कम हुआ है ।

You may also like

MERA DDDD DDD DD