Country

सीबीआई की जांच में कर्नाटक पुलिस

कर्नाटक पुलिस के कुछेक अफसर तत्कालीन सीएम कुमार स्वामी के सत्ता में रहते विपक्षी दलों समेत राज्य के राजनेताओं की फोन टैंपिग मामले में फंस गए हैं। केंद्रीय जांच ऐजन्सी सीबीआई ने 30 अगस्त को राज्य सरकार के अनुरोध पर मुकद्दमा दर्ज कर इस पूरे मामले की जांच शुरू कर दी है।

माना जा रहा है कि सीबीआई के फोकस में वे नौकरशाह और पुलिस अफसर हैं जिन्होंने तत्कालीन मुख्यमंत्री एच-डी- कुमार स्वामी या अन्य किसी राजनेता  के मौखिक आदेश पर फोन टैपिंग की थी। सीबीआई को कर्नाटक सरकार ने एक अगस्त 2018 से 19 अगस्त, 2019 तक के समय में किये गये ऐसे फोन टैपिंग की जांच का आग्रह किया है। गौरतलब है कि फोन टैपिंग को एक पूरी प्रक्रिया का पालन किये बगैर करना गैरकानूनी है और पुलिस समेत किसी भी इन्वेस्टिगेशन एजेन्सी को ऐसा करने का अधिकार नहीं है। राज्य अथवा केंद्र में गृह सचिव से ऐसा करने की  स्वीकृत जरूरी होती है। माना जा रहा है कि बंग्लुरू के तत्कालीन पुलिस कमिश्नर आलोक कुमार ने भाजपा के वरिष्ठ नेताओं समेत कई राजनीतिज्ञों के फोन कुमारस्वामी के शासनकाल में टैप किये थे।

You may also like