[gtranslate]
Country

यूपी में जंगलराज,बस्ती में 4 दिन में 8 लोगों की हत्या 

अभी 1 सप्ताह पूर्व  सुप्रीम कोर्ट ने  उत्तर प्रदेश के बारे में  टिप्पणी करते हुए कहा था कि यूपी में जंगलराज कायम है ।  इस बात को  बदमाशों ने साबित  करके दिखाया है  उत्तर प्रदेश के  जिला बस्ती में । बस्ती जिले में  पिछले 4 दिनों में  8 लोगों की हुई हत्या से यूपी की कानून व्यवस्था पर  सवालिया निशान खड़े हो गए  ।उत्तर प्रदेश के  मुख्यमंत्री  आदित्यनाथ योगी  प्रदेश में कानून व्यवस्था  के चाक-चौबंद होने के दावे करते हैं । लेकिन उनके दामों को  बदमाश  खारिज  कर देते हैं । यह प्रदेश की पुलिस  के लिए  भी चुनौती है ।
बस्ती जिले के अलग-अलग क्षेत्र में हुई ताबड़तोड़ आपराधिक वारदातों के बाद बस्ती पुलिस पर भी सवालिया निशान खड़ा हो गया है । सबसे बड़ी बात ये है कि पुलिसिया लापरवाही से बढ़ रहे जमीनी विवाद  के कारण अधिकतर घटनाएं हो रही हैं । वही दूसरी तरफ बस्ती के एसपी हेमराज मीना का कहना है कि ऐसे घटनाओं पर अंकुश लगाने के लिये स्पेशल टीम बनाकर काम किया जाएगा।
बस्ती में एक के बाद एक हो रही हत्याओं का सिलसिला थमने का नाम नही ले रहा है। पहली घटना बस्ती के वाल्टरगंज थाना क्षेत्र के गनेशपुर पुलिस चौकी की है । जहां सुकरौली चौराहे के पास स्कूटी से जा रहे 50 वर्षीय रामराज निवासी इटहिया थाना कप्तानगंज पर पल्सर सवार तीन व्यक्तियों ने ताबड़तोड़ गोलियां बरसाईं. जिससे वह गंभीर रूप से घायल हो गए. बाद में इलाज के दौरान उनकी मौत हो गयी ।
मृतक रामराज की भतीजी दीपिका गौतम गौर तृतीय से जिला पंचायत सदस्य है ।  मौत से पहले दिए बयान में रामराज ने पुलिस को जमीन रंजिश बताया है । उन्होंने बताया था कि गोली चलाने वाले उन्हीं के गांव के झिनकान तिवारी, अशोक तिवारी व उनके बहनोई लल्लू शुक्ल हैं ।
दूसरी घटना दुबौलिया थाने की है, यहाँ थाने से चंद कदम दूर जगन्नाथ सिंह की चाकूओ से गोद कर हत्या कर दी गयी ।  इसमें दुबौलिया पुलिस पर सवाल उठ रहे हैं क्योंकि थाने के पास हत्या हुई और पुलिस को जानकारी ही नहीं हुई । परिजनों के अनुसार मृतक घर से दुबौलिया बाजार मे सब्जी लेने गया हुआ था । उन्हीं के गांव के एक व्यक्ति ने मृतक का शव सड़क किनारे खून से लथपथ पड़ा देखकर परिजनों को सूचना दिया ।
तीसरी घटना भी दुबौलिया थाने का ही है । यहां किसान के गायब होने के मामले में पुलिसिया लापरवाही न होती शायद वो जिंदा होता ।  परिजनों की सूचना पर पुलिस गुमशुदगी तो दर्ज की मगर खोजने की जहमत नहीं उठाई । जिसके बाद किसान की दो दिन बाद शव मिला ।
वही चौथी घटना हरैया थाना क्षेत्र के ज्ञानपुर की है, जहां दहेज लोभियों ने नवविवाहिता की हत्या कर दी है। दहेज के दानवों ने पहले पीट पीट कर उसकी हत्या कर दिए और शव को पंखे से लटका कर उसे आत्महत्या का रूप देने का प्रयास भी किया ।
मृतका के भाई की तहरीर पर पति समेत पांच लोगो पर नामजद मुकदमा दर्ज किया गया है । साथ ही पांचवी घटना परशुरामपुर थाना क्षेत्र की है, जहां हदही गांव के करीब मनोरमा नदी में युवक का शव मिला । मृतक की पहचान नरायनपुर पांडे गांव निवासी विजयबहादुर वर्मा के रूप में हुई ।
 ताबड़तोड़ 3 हत्या से सनसनी फैल गयी, नगर थाना क्षेत्र के कुसमौर गांव में एक विवाहिता की हत्या कर दी गयी, पुलिस शव को कब्जे में लिया और एफआईआर लिख ली है, लालगंज थाना क्षेत्र में बनकटी के पास सडक के किनारे एक युवक की हत्या कर शव पेड़ से टांग दिया गया, घंटो पुलिस को इस घटना की जानकारी तक नही हो पाई, वही हर्रिया थाना एरिया में इंटर में पढ़ने वाली गुंजन की हत्या कर दी गयी और शव नदी में फेंक दिया गया।

You may also like

MERA DDDD DDD DD