[gtranslate]
Country

थाने में फरियादी महिला को प्राइवेट पार्ट दिखाने मास्टरबेन करने वाला इंस्पेक्टर गिरफ्तार 

थाने में फरियादी महिला को प्राइवेट पार्ट दिखाने मास्टरबेन करने वाला इंस्पेक्टर गिरफ्तार 

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जिस पुलिस पर आंख मूंद कर विश्वास कर रहे हैं वह जनता के साथ विश्वासघात कर रही है। एक तरह से देखा जाए तो पुलिस रक्षक से भक्षक बन गई हैं। फिलहाल देवरिया के भटनी थाने में खाकी ने शर्मसार करने वाला मामला किया है। जिसमें एक पीड़ित महिला अपनी फरियाद लेकर जब थाने पहुंचती है तो थानेदार ना केवल अपनी पैंट की जिप खोलकर प्राइवेट पार्ट बाहर निकालता है, बल्कि महिला के और उसकी मां के सामने ही मास्टरबैन करने लगता है।

हालांकि, इस मामले को एक तरीके से पुलिस ने दबा ही दिया था। लेकिन पीड़ित महिला ने जब वीडियो वायरल किया तो यह मामला सामने आया। इसके बाद प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के दरबार में यह मामला पहुंचा तो वह सख्त हुए और उन्होंने तुरंत एक्शन लेने को कहा। इसके बाद थानेदार पर ना केवल मामला दर्ज हुआ बल्कि उसको ढूंढ कर लाने के लिए 25000 का इनाम भी घोषित किया गया। हालांकि, फरार थानेदार को एसओजी टीम ने गिरफ्तार कर लिया है और उसे पुलिस से बर्खास्त कर दिया गया है। लेकिन सवाल खड़े हो रहे हैं कि जिस पुलिस के साथ आम लोग न्याय के लिए उस के दरबार में जाते हैं वहां हो रहे अन्याय पर यह कैसा सुराज चल रहा है।

हालांकि, पीड़ित युवती की तहरीर पर भटनी थाने में भीष्मपाल सिंह यादव के खिलाफ धारा 354(क) /509/166 आईपीसी के तहत केस दर्ज कर विवेचना शुरू कर दी गई है। युवती की तहरीर के मुताबिक, वह 22 जून को दोपहर में अपनी मां के साथ भूमि विवाद के एक मामले में थाने गई थी। उस वक्त प्रभारी निरीक्षक भटनी भीष्मपाल सिंह यादव अपने कार्यालय में बैठे थे। वह और उसकी मां भूमि विवाद के बारे में प्रभारी निरीक्षक को बता रही थीं। जिसके बाद भीष्मपाल सिंह यादव के द्वारा बैठने के लिए कहने पर दोनों वहां रखी कुर्सी पर बैठ गईं।

युवती का आरोप है कि भूमि विवाद के संबंध में बात करते-करते प्रभारी निरीक्षक अश्लील हरकत करने लगे। इस दौरान महिला के साथ उसकी बेटी भी पुलिस थाने गई थी। यहां महिला ने एक छिपे हुए कैमरे से इंस्पेक्टर की करतूत को रिकॉर्ड कर लिया। इसके बाद विडियों को महिला ने अपने परिवार के अन्य सदस्यों को दिखाया। जिसके बाद पड़ोस के रहने वाले एक व्यक्ति ने वीडियो को फारवर्ड कर दिया और वह सोशल मीडिया पर वायरल हो गया।

महिला ने अपनी शिकायत में कहा है कि मैंने 2-3 बार इस करतूत को नजरअंदाज किया। क्योंकि मुझे मामला दर्ज कराना था, लेकिन जब मेरी एक रिश्तेदार ने बताया कि इंस्पेक्टर उसके साथ भी ऐसी ही हरकत कर चुका है तो मैंने घटना का वीडियो बनाने का फैसला किया।

पौने तीन मिनट के वायरल वीडियो में दिख रहा है कि दो महिलाएं शिकायत लेकर थाने पहुंची हैं. एक महिला इंस्पेक्टर के बायीं तरफ बैठी है. अनुमान लगाया जा रहा है कि वह पूर्व की परिचित रही होगी. वहीं, एक महिला सामने बैठी है। वायरल वीडियो में इंस्पेक्टर भीष्म पाल यादव बायीं तरफ बैठी महिला को अश्लील इशारे करते हुए देखा जा सकता है। इसी के साथ इंस्पेक्टर भीष्म सिंह यादव ने अपनी पैंट की जिप खोलकर प्राईवेट पार्ट बाहर निकालकर मास्टरबैन करना शुरू कर दिया। वायरल वीडियो में इसे देखा जा सकता है।

उधर, देवरिया के पुलिस अधीक्षक श्रीपति मिश्रा ने कहा है कि मास्टरबेट करते हुए नजर आ रहे भीष्म पाल सिंह को फिलहाल सस्पेंड कर दिया गया है और उस पर एफआईआर भी दर्ज किया गया है। पुलिस अधीक्षक के मुताबिक इस मामले में कड़ी कार्रवाई की जा रही है। बताया जा रहा है कि यह वीडियो बीते 22 जून का है जो अब सामने आया है। इसके बाद वायरल वीडियो की जांच की गई। इस मामले में 26 जून को यहां के पुलिस अधीक्षक ने भीष्म पाल सिंह को सस्पेंड कर दिया था।

You may also like

MERA DDDD DDD DD