[gtranslate]
Country

दिल्ली में मोदी जी हमारे बच्चों की दवाई विदेश क्यों भिजवाई के पोस्टर लगाने पर 25 की गिरफ्तारी

कोरोना काल में मरीजों की संख्या बढ़ रही है । हालांकि साथ ही मरीजों की रिकवरी के आंकड़े भी बढ़त बनाए हुए हैं। इसी दौरान देश में वैक्सीनेशन को लेकर हाय तौबा मची है।

पहले सरकार ने 40 साल से ऊपर के लोगों को दूसरी वैक्सीन लगाने का 18 दिन का समय दिया था। उसके बाद इसे 45 दिन कर दिया गया। लेकिन अब बताया जा रहा है कि यह समय सीमा 90 दिन कर दी गई है। इसके पीछे वैक्सीनेशन ना होना बताया जा रहा है।

पूर्व में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने विदेशों में भारी मात्रा में वैक्सीन निर्यात की थी। तब मोदी ने कहा था कि देश में वैक्सीन की कोई कमी नहीं है। लेकिन अब वैक्सीन हेल्थ सेन्टर पर बहुत कम मिल रही है।

यहां तक की 18 साल से अधिक उम्र के युवाओं को अभी भी अधिकतर संख्या में वैक्सीन नहीं लगाई जा सकी है। इसका देशभर में विरोध हो रहा है। जिसकी शुरुआत दिल्ली से हुई है। यहां लोगों ने पोस्टर लगाने शुरू कर दिए हैं । यह पोस्टर केंद्र सरकार के खिलाफ है। इन पोस्टरों में लिखा है कि ‘मोदी जी हमारे बच्चों की वैक्सीन विदेश क्यों भेज दी’।

मोदी सरकार की खिलाफत करते ऐसे पोस्टर लगने के बाद दिल्ली पुलिस सक्रिय हो गई है। दिल्ली पुलिस ने ऐसे पोस्टर वार करने वाले लोगों को की धरपकड़ शुरू कर दी है। अब तक दिल्ली में पोस्टर लगाने वाले लोगों के खिलाफ 21 एफ आई आर दर्ज हो चुकी है। तथा 25 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका। है सभी पर यह कार्रवाई धारा 188 के तहत की जा रही है।

बताया जा रहा है कि पोस्टर लगाने के पीछे एक पार्टी की राजनीतिक मंसा भी हो सकती है। हालांकि अभी इसके पुख्ता प्रमाण नहीं आए हैं । लेकिन दिल्ली पुलिस की माने तो उन्होंने एक ऐसे आरोपी को अरेस्ट किया है जो जिसे पोस्टर चिपकाने के लिए ₹500 दिए गए थे। हालांकि यह अभी जांच का विषय है कि उक्त व्यक्ति को पोस्टर चिपकाने के लिए ₹500 किसने दिए थे।

इसी के साथ सोशल मीडिया पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ लोगों का आक्रोश बढ़ता जा रहा है। ट्विटर पर
शोएब कुरैशी लिखते हैं कि आत्मनिर्भर भारत को कहते हैं मोदी जी आज कैसा बना दिया के विदेशों से मदद मंगनी पढ़ ली । यह किसका भारत आत्मनिर्भर बना दिया। ऐसे अच्छे दिन नहीं चाहिए। वह पुराने बीते हुए 6 साल वापस दे दो मोदी जी। वही बेहतर थे#इस्तीफा देव मोदी जी।

You may also like

MERA DDDD DDD DD