[gtranslate]
Country

मदद की जरूरत है तो इन नंबरों पर करें कॉल, लेकिन घर से न निकलें बाहर

मदद की जरूरत है तो इन नंबरों पर करें कॉल, लेकिन घर से न निकलें बाहर

अभी पूरे देश में कोरोना वायरस के चलते लॉकडाउन लगा हुआ है। पहले यह लॉकडाउन 21 दिनों का था जिसे कल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अब 19 दिन के लिए बढ़ा दिया। अब यह 3 मई तक जारी रहेगा। पहले यह कयास लगाए जा रहे थे कि इसे दूसरे लॉकडाउन में छूट मिलेगी पर प्रधानमंत्री ने देशवासियों को संबोधित करते हुए इसका सख्ती से पालन करने के लिए कहा। ऐसे में कुछ लोग अपने रोजगार के लिए दूसरे शहर या दूसरे राज्यों में है। ऐसे में वहां कुछ लोगों को कई तरह कि दिक्कत हो रही है।

जिसे ध्यान में रखते हुए श्रम मंत्रालय ने मजदूरों की वेतन संबंधी समस्याओं के समाधान के लिए वर्कर्स हेल्पलाइन की शुरुआत की है। यहां पर वेतन से लेकर किसी भी तरह की समस्या होने की स्थिति में श्रमिक हेल्पलाइन से संपर्क कर अपनी शिकायत दर्ज करा सकते हैं। श्रम विभाग तत्काल इन समस्याओं को हल करेगा। इसके लिए संबंधित अधिकारियों के फोन नंबर भी जारी किए गए हैं।

अभी देश में 20 क्षेत्रीय केंद्रों पर इसकी शुरुआत की गई है। गुजरात, दादर नगर हवेली के साथ ही दमन और दीव क्षेत्र के मजदूर अहमदाबाद क्षेत्रीय केंद्र के हेल्पलाइन नंबरों पर संपर्क कर सकते हैं। पश्चिम बंगाल, सिक्किम, राजस्थान के लिए अजमेर, कर्नाटक के लिए बेंगलुरु, ओडिशा के लिए भुवनेश्वर, हिमाचल प्रदेश, जम्मू और कश्मीर, हरियाणा, पंजाब, चंडीगढ़, लद्दाख, अंडमान और निकोबार के मजदूरों के लिए आसनसोल और कोलकाता, के लिए चंडीगढ़ क्षेत्रीय केंद्र पर हेल्पलाइन शुरू की गई है।

तमिलनाडु और पुडुचेरी के लिए चेन्नई, उत्तराखंड और पश्चिमी उत्तर प्रदेश के लिए देहरादून, दिल्ली के लिए दिल्ली, केरल और लक्षद्वीप के लिए कोचीन, झारखंड के लिए धनबाद क्षेत्रीय केंद्र में हेल्पलाइन सेवा शुरू की गई है। नागालैंड, मेघालय, अरुणाचल प्रदेश और त्रिपुरा के मजदूर गुवाहाटी, तेलंगाना और आंध्र प्रदेश के साथ ही पुडुचेरी के कुछ इलाकों के मजदूर हैदराबाद क्षेत्रीय केंद्र, उत्तर प्रदेश को छोड़कर अन्य इलाकों के मजदूर कानपुर क्षेत्रीय केंद्र की हेल्पलाइन पर संपर्क कर सकते हैं। बिहार के मजदूरों के लिए पटना, छत्तीसगढ़ के मजदूरों के लिए रायपुर क्षेत्रीय केंद्र पर हेल्पलाइन सेवा की शुरुआत की गई है। तो वहीं महाराष्ट्र के श्रमिकों के लिए मुंबई और नागपुर क्षेत्रीय केंद्र। बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लॉकडाउन का ऐलान करते हुए किसी भी कर्मचारी का वेतन नहीं काटने की अपील की थी।

You may also like