Country Latest news

“ऐसे दस्तूर को,सुबह-बे-नूर को, मैं नहीं मानता,मैं नहीं मानता”

जवाहर लाल यूनिवर्सिटी के पूर्व अध्यक्ष एन साई बालाजी ने एक छात्र की बेरहमी से पिटाई को लेकर ट्वीट किया. एन साई बालाजी ने बताया कि क्रांतिकारी गायक और जेएनयूएसयू के पार्षद शशिभूषण समद को बुरी तरह से पीटा गया है. वे नेत्रहीन हैं. वे एम्स ट्रॉमा सेंटर में एडमिट हैं और उनकी हालत गंभीर बनी हुई है.

दिन भर चले बवाल के बाद दिल्ली पुलिस ने बताया कि  जेएनयू धरना प्रदर्शन में कम से कम 30 पुलिसकर्मी और 15 छात्र घायल हो गए. इस बीच जवाहर लाल यूनिवर्सिटी के पूर्व अध्यक्ष एन साई बालाजी ने एक छात्र की बेरहमी से पिटाई को लेकर ट्वीट किया.

JNUSU Results 2019: बकौल शशिभूषण, “कैंपस के इतिहास में आज तक कोई विजुअली इंपेयर्ड नहीं चुना गया था। मैं JNU के पूरे इतिहास विजुअली इंपेयर्ड के तौर पर पहला कैंडिडेट हूं, जो यूनियन के चुनाव में जीता हूं। मैं इसके नाते हमारे समुदाय (नेत्रहीन) को लेकर जो सुविधाएं कैंपस में नहीं है, उस पर पूरा जोर देकर काम करूंगा।”

PAK शायर की नज्म गाकर बंटोरी सुर्खियां, वीडियो हुआ था वायरलः जेएनयू चुनाव संपन्न होने वाले दिन समद ने पाकिस्तानी इंकलाबी शायर हबीब जालिब की नज्म ‘दस्तूर’ गाई थी, जिसका वीडियो सोशल मीडिया पर उसके बाद खूब वायरल हुआ था। समद मूलपूर से उत्तर प्रदेश के गोरखपुर के रहने वाले हैं और जेएनयू में SSS से मॉर्डन हिस्ट्री में एम.ए कर रहे हैं। बचपन में उन्हें ग्लूकोमा बीमारी हो गई थी, जिसके बाद उनके 14-15 ऑपरेशन हुए। हालांकि, यह बीमारी ठीक न हुई, फिर भी उनके पिता ने खूब ख्याल रखा और उन्हें वक्त पर स्कूल में डाल दिया था।

 

छात्रों को पीटे जाने पर AAP सांसद संजय सिंह ने भी ट्वीट कर नाराजगी जाहिर की. संजय सिंह ने लिखा-  युवाओं छात्रों से इतनी नफरत ये हैं…..

 

जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी के छात्रों का संसद मार्च दिन भर चले बवाल के बाद कल खत्म हो गया. हिरासत में लिए गए छात्रों को दिल्ली पुलिस ने रिहा कर दिया. वहीं, जेएनयू छात्रसंघ के सदस्यों ने मानव संसाधन विकास मंत्रालय के सचिव से मुलाकात कर अपनी मांग रखी. आधिकारिक तौर पर जेएनयू छात्र संघ की मांगों को स्वीकार कर लिया गया है. छात्र संघ ने दिल्ली पुलिस द्वारा लाठीचार्ज को लेकर भी मंत्रालय को अवगत कराया और दिल्ली पुलिस के खिलाफ तत्काल कार्रवाई की मांग की.

You may also like