Country

पहले प्यार पाने को पति की हत्या,अब खाकी के संरक्षण में अय्याशी 

अभी तीन दिन पहले की ही बात है , जब यूपी पुलिस का एक नया कारनामा सामने आया था। एक हिस्टरीशीटर बदमाश को कोर्ट में ले जाते समय उसे अपनी प्रेमिका से होटल में अय्याशी करने की छूट दे दी गई। हिस्टरीशीटर बदमाश की यह वही प्रेमिका है जिसको पाने के लिए वह पूर्व में उसके पति की  हत्या कर चुका है।
उसी मामले में कामेश्वर सिंह डब्लू अपनी प्रेमिका के पति विवेक की हत्या के आरोप में हरदोई जेल में बंद था। तीन दिन पहले उसे गोरखपुर न्यायालय में पेशी पर लाया गया था। पुलिस की मिलीभगत से कुख्यात अपराधी डब्लू ने अपने दोस्त से प्रेमिका को एक होटल में बुलवाया। होटल में ही उसके साथ वो रंगरेलियां मना रहा था। इसी दौरान जिस पुलिस ने उसे रंगरलियां मनाने के लिए होटल में ठहराया वह दुसरे कमरे में खाना खाने लगी। जबकि स्थानीय पुलिस ने अचानक होटल पर छापा मार दिया। जिसमें हिस्टरीशीटर बदमाश अपनी प्रेमिका के साथ अय्याशी कर रहा था। पुलिस द्वारा दोनों को हिरासत में लिया गया। वहीं इस केस में शामिल तीन पुलिस वालों के खिलाफ भी कार्रवाई की गई है।
हत्या के मामले में हरदोई जिले में बंद कुख्यात अपराधी कामेश्वर सिंह उर्फ डब्लू का खौफ गोरखपुर और आसपास के जिलों में बढ़ता ही जा रहा है। लेकिन डब्लू के साथ ही उसकी प्रेमिका सुषमा की चर्चा भी पूर्वांचल में कम नहीं है। तीन साल पहले जिस प्रेमी के हाथों अपने ही पति की हत्या कराने का सुषमा पर आरोप था। अब उसी प्रेमी के साथ होटल के कमरे में रंगरेलियां मनाते वो फिर पकड़ी गई। इस मुलाकात ने यूपी पुलिस को एक बार फिर कटघरे में खड़ा कर दिया है। अब उसके दामन पर खाकी के संरक्षण में अय्याशी कराने के आरोप लगे है।
बतादें कि देवरिया जिले की रहने वाली सुषमा और यहीं के कामेश्वर सिंह डब्लू के बीच प्रेम संबन्ध था। दोनों एक दूसके के काफी करीब थे। दोनों की करीबी इन्हे और करीब लाती कि इसी बीच सुषमा के परिवार वालों को ये जानकारी हासिल हो गई कि डब्लू सिंह सिंह आपराधिक पृष्ठभूमि का है। सुषमा के परिवार वालों ने तय किया कि वो बेटी की शादी जल्द किसी दूसरी जगह कर दे।

10 साल पहले सुषमा के घर वालों ने उसकी शादी गोरखपुर के रहने वाले विवेक उर्फ विक्की से कर दी। वो शहर में ही रहकर नौकरी करता था। इधर सुषमा का दिल कभी पति से न मिला। उसकी यादों में कामेश्वर सिंह उर्फ डब्लू ही रहता। आपराधिक पृष्ठभूमि के इस युवक पर डबल मर्डर का आरोप था। बावजूद इसके सुषमा उससे बेपनाह मोहब्बत करती रही। आखिरकार मोबाइल फोन के जमाने से दोनों फिर से बेहद पास आ गये। इस हाल में सुषमा न विवेक के साथ रहना चाहती थी और न ही उसका प्रेमी डब्लू उसे अपने अलावा किसी के साथ देखना चाहता था। फिर सुषमा ने अपने प्रेमी के साथ ही जीने की सौगंध ले ली। उसने प्रेमी से कहा कि वो विवेक को रास्ते से हटाकर अपनी दुनियां में ले चले।

प्रेमिका की बातों का डब्लू पर इतना असर हुआ कि वो उसके पति विवेक की हत्या करने की योजना बना लिया। तीन साल पहले विवेक अपने साथियों के साथ सुषमा के घर आय़ा। उसने अंदर से दरवाजा खोला। डब्लू ने सुषमा के पति के सिर पर वार कर उसे मार डाला। लाश फेंकने ले जा रहा था कि पुलिस ने डब्लू को गिरफ्तार कर लिया। मामले के खुलासे के बाद सुषमा को भी जेल जाना पड़ा।

You may also like