[gtranslate]
Country Poltics

‘धारा 144’ के बीच कैसे होगा आंदोलनरत किसानों का ‘शक्ति प्रदर्शन’?

नए किसान कानून के विरोध में एक तरफ आंदोलनरत किसानों ने ट्रैक्टर रैली कर सरकार को अपना शक्ति प्रदर्शन दिखाने का ठाना है तो दूसरी तरफ दिल्ली -एनसीआर की पुलिस ने सुरक्षा कारणों के चलते 31 जनवरी तक धारा 144 लगा दी है।
अब सबसे बड़ा सवाल यह है कि क्या यह किसान आंदोलन को कमजोर करने की सरकार की साजिश है या असल में गणतंत्र दिवस के मद्देनजर देश की सुरक्षा से समझौता न करने की कवायद है ?

22 जनवरी 2021, दिन शुक्रवार को दिल्ली के सिंधु बॉर्डर पर किसानों ने एक व्यक्ति को संदिग्ध स्थिति में पकड़ा था। वह आपराधिक मंतव्य के साथ किसान आंदोलन में आया था,पकड़ें जाने के बाद उसने मीडिया को बताया भी था कि 26 जनवरी को होने वाले किसान ट्रैक्टर रैली में उसे मंच पर बैठे चार लोगों को गोली मारने की सुपारी दी गयी थी।

गौतम बुद्ध नगर में  31 जनवरी तक के लिए  धारा 144 लागू

इसी के मद्दे नजर दिल्ली एनसीआर इलाकों में पुलिस ने चाक-चौबंद तेज कर दिए हैं। इसी के साथ उत्तर प्रदेश के गौतम बुद्ध नगर में पुलिस ने 31 जनवरी तक के लिए सीआरपीसी के तहत धारा 144 लागू कर दी है।
इसके चलते अब बिना इजाजत के प्रदर्शन की इजाजत नहीं होगी, ना ही निजी ड्रोन उड़ाए जा सकेंगे। वहीं कोई अपने साथ हथियार भी नहीं रख सकेगा, सिवाय सुरक्षा बलों के।

यूपी के फाउंडेशन डे को भी ध्यान में रखा गया

यह प्रतिबंध गणतंत्र दिवस को ध्यान में रखते हुए लगाया गया है। साथ ही 24 जनवरी को होने वाली यूपी के फाउंडेशन डे को भी ध्यान में रखा गया है। इतना ही नहीं, उम्मीद की जा रही है कि इस बीच यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी इलाके का दौरा कर सकते हैं, जिसके चलते सुरक्षा चाक चौबंद की गई है।

 

अतिरिक्त डिप्टी कमिशनर आशुतोष द्विवेदी के अनुसार 31 जनवरी तक सुरक्षा कारणों के चलते ड्रोन उड़ाने पर पूरी तरह से पाबंदी रहेगी। वहीं किसी को भी बिना इजाजत के प्रदर्शन या फिर भूख हड़ताल करने नहीं दिया जाएगा। ना ही किसी और को ऐसा करने के लिए उत्सुक करने की इजाजत होगी। कोई भी सड़क पर डंडा, रॉड या हथियार लेकर नहीं घूम सकता है। हां अगर कोई दिव्यांग है तो वह अपने साथ डंडा रख सकता है।

साथ ही पुलिस ने किसी भी शादी या अन्य समारोह में सेलेब्रेटरी फायरिंग करने या फिर सार्वजनिक जगहों पर शराब का सेवन करने पर भी प्रतिबंध लगा दिया है। इसके अलावा लोगों को चेतावनी दी गई है कि वह ऐसा कोई भी काम ना करें या कोई ऑडियो-वीडियो ना चलाएं या बेचें, जिससे तनाव पैदा होने का खतरा हो। धारा 144 का उल्लंघन करने वाले शख्स पर धारा 188 के तहत मुकदमा चलाया जाएगा।

You may also like

MERA DDDD DDD DD