[gtranslate]
Country

क्या बीजेपी की तरह हिंदुत्व की राह पर चल पड़ी है ‘कांग्रेस’ ?

राजस्थान में कांग्रेस की छात्र इकाई नेशनल स्टूडेंट्स यूनियन ऑफ़ इंडिया (NSUI) द्वारा अयोध्या के राममंदिर निर्माण के लिए चंदा इकठ्ठा करने का कार्य किया जा रहा है। जिसे लेकर राजस्थान में बीजेपी और कांग्रेस के समर्थकों के बीच राजनीतिक तकरार तेज हो गयी है।

दरअसल अयोध्या में भव्य राममंदिर के निर्माण के लिए राम मंदिर तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट को देश भर के कई कोने से लोग दान दे रहे हैं। इसी ट्रस्ट के तहत ‘निधि समर्पण योगदान अभियान’ की भी शुरुआत की गयी है जो देश भर में जा-जाकर राममंदिर निर्माण के लिए चंदा इकठ्ठा करने का कार्य कर रही है। अब तक इस अभियान में करोड़ों का चंदा एकत्रित किया जा चुका है।

 

 

जहाँ देश के राष्ट्रपति से लेकर विभिन्न राज्यों के मुख्यमंत्री,विधायक आदि नेताओं ने भी अपनी-अपनी श्रद्धानुसार दान दिया है। लेकिन कांग्रेस के छात्र ईकाई के लोग राजस्थान के महाविद्यालयों, विश्वविद्यालयों और स्कूलों में जाकर मात्र एक रूपये की योगदान राशि ले रहे हैं और इसके बदले छात्रों को एक रूपये की रसीद भी दे रहे हैं। 

इस पर NSUI के स्टेट प्रेजिडेंट अभिषेक चौधरी का कहना है कि हम इस अभियान के जरिये यह सन्देश देना चाहते हैं कि श्रद्धा दिखाने के लिए बड़ी-बड़ी रकम जरूरी नहीं हैं ,राम मंदिर के लिए एक रूपये का योगदान देकर दिखाई जा सकती है।

हिंदुत्व कार्ड की राह पर  कांग्रेस !

पर इस पूरे मामले पर भाजपा के नेताओं ने कांग्रेस पर आरोप लगाते हुए  कहा है कि कांग्रेस इस तरह के विवादित हरकतें करके कोई सन्देश नहीं देना चाहती है बल्कि वो सिर्फ अपनी राजनीति को चमकाने के लिए ऐसा कर रही है। लेकिन इस मामले के बाद एक बात तो तय हैं कि कांग्रेस कहीं न कहीं भाजपा के हिन्दू और हिंदुत्व कार्ड के सामने झुकती नजर आ रही है। यही कारण है कि राहुल गांधी कभी जनेऊ पहने नजर आते हैं तो कभी दिग्विजय सिंह राममंदिर के लिए लाखों रुपयों का दान करते हैं।

 

 

अहम सवाल यह है कि कभी अयोध्या के राममंदिर को लेकर अपना स्पष्ट मत देने वाली कांग्रेस भी क्या अब हिंदुत्व की राह पर चल पड़ी है ?

कांग्रेस को यह महसूस होने लगा है कि राजनीति में वोट के बिना सत्ता की नैया को पार नहीं किया जा सकता इसीलिए भाजपा के हिंदुत्व की आंधी में हिंदुत्व कार्ड के जरिये ही कुछ वोट दूसरे पाले में जाने से बचाया जा सकता है। खैर,राजस्थान का मामला किस ओर जाकर रुकेगा यह समय बातयेगा लेकिन देश की राष्ट्रीय राजनीति में खासकर वर्तमान में ‘श्री राम’ और ‘हिंदुत्व’ वोट कार्ड की मजबूरी का पर्याय बन चुके हैं।

You may also like

MERA DDDD DDD DD