[gtranslate]
Country

ईज ऑफ डूइंग बिजनेस रैंकिंग में बुरी तरह गिरा हरियाणा

ईज ऑफ डूइंग बिजनेस रैंकिंग के तहत राज्यों की रैंकिंग तैयार करने के लिए नए मानकों के आधार पर सर्वे हुआ है। इस सर्वे में 25 से ज्यादा नए मानक शामिल किए गए हैं, जबकि कई पहले से लागू मानक हटा दिए गए हैं। इन महत्वपूर्ण बदलावों के लिए न तो हरियाणा तैयार था और न ही दूसरे राज्य तैयार हो पाए। जिसके चलते हरियाणा ईज ऑफ डूइंग बिजनेस रैंकिंग में तीसरे स्थान से फिसलकर 16 वें स्थान पर आ गया है। हरियाणा ही नहीं, बल्कि और भी कई राज्य हैं जिनकी रैंकिंग गिरी।

इस रैकिंग को डिमार्टमेंट ऑफ प्रमोशन ऑफ इंडस्ट्री एंड इंटरनल ट्रेड की ओर से जारी किया गया है। इस बार 2019 के ताजा आंकड़े आ चुके हैं। हालांकि यह रैंकिंग बीते वित्त वर्ष की नहीं हैं, और न ही जब से प्रदेश में बीजेपी-जजपा सरकार आई है इस रैंकिंग में 2018 के कुछ महीने और जून 2019 तक का सर्वे किया गया है। निवेशकों के शुरुआती महीनों को शामिल किया गया है।

इस योजना को व्यापार सुधार कार्ययोजना 2019 नाम दिया गया है। वहीं इस बार कुछ राज्य जो पहले काफी निचले पायदान पर आते थे उनकी रैंकिंग में इस बार सुधार देखने को मिला है। जैसे यूपी पहले 12 वें स्थान पर अब दूसरे स्थान पर आ चुका है, दिल्ली 12 वें स्थान पर, पहले 23 वें स्थान पर थी। इसी तरह और राज्य में रैंकिंग में बढ़े हैं, और कुछ घटे हैं।इन राज्यों को नुकसान हुआ, उड़ीसा पहले 14वें स्थान पर था, अब 29वें स्थान पर है, जबकि हरियाणा तीसरे से 16 वें स्थान पर पहुंच गया है। बिहार 18 वें स्थान से 26 वें स्थान पर पहुंच गया है। केवल यूपी को छोड़कर किसी भी राज्य को औद्योगिक रूप से विकसित प्रदेश की कैटगरी में फायदा नहीं मिला। वहीं औद्योगिक रूप से विकसित राज्यों को इस बार नुकसान हुआ है। इस सर्वे में उद्योगपतियों के अनुभव और फीडबैक को आधार बनाकर रैंकिंग तय की गई है।

कांग्रेस के अंतिम दिनों में प्रदेश की रैकिंग 14 वें स्थान पर थी, उसके बाद बीजेपी सत्ता में, बीजेपी के पहले कार्यकाल में यह छठे स्थान पर थी, फिर बीजेपी दोबारा आई, तब तीसरे स्थान पर पहुंची और अब तीसरे से फिसलकर 16 वें स्थान पर पहुंच चुकी है।

You may also like

MERA DDDD DDD DD