[gtranslate]
Country Latest news

ग्लोबल हंगर इंडेक्स: राहुल का PM पर तंज…

ग्लोबल हंगर इंडेक्स (जीएचआई) 2019 में भारत 117 देशों में 102वें स्थान पर है जबकि उसके पड़ोसी देश नेपाल, पाकिस्तान एवं बांग्लादेश की रैंकिंग उससे बेहतर है। ये रिपोर्ट भारत के लिए चिंता का विषय है। इस रिपोर्ट के अनुसार भारत की हालत एशिया के कई देशों से खराब है। ग्लोबल हंगर इंडेक्स की लिस्ट में पाकिस्तान इसमें 94वें और बांग्लादेश 88वें नंबर पर है। कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने कहा कि इस रैंकिंग से सरकार की नीति में भारी असफलता का पता चलता है।

राहुल गांधी ने ट्वीट करके लिखा ”भारत की ग्लोबल हंगर इडेक्स की रैंकिंग 2014 से लगातार गिर रही है, अब यह 102/117 हो गई है। इस रैंकिंग से सरकार की नीतियिों की भारी असफलता का पता चलता है और पीएम मोदी के ‘सबका साथ सबका विकास’ के खोखले दावों की पोल खोल दी है।”

 

भूख और कुपोषण पर नजर रखने वाले जीएचआई की वेबसाइट में बुधवार को बताया गया कि बेलारूस, यूक्रेन, तुर्की, क्यूबा और कुवैत समेत 17 देश पांच से कम जीएचआई अंक के साथ टॉप पर रहे। आयरलैंड की एजेंसी ‘कन्सर्न वर्ल्डवाइड’ और जर्मनी के संगठन ‘वेल्ट हंगर हिल्फे’ की तरफ से संयुक्त रूप से तैयार रिपोर्ट में भारत में भरपेट भोजन नहीं मिलने की वजह से उत्पन्न भूख के स्तर को ‘‘गंभीर’’ बताया गया है।

साल 2010 में भारत इसी लिस्ट में 95वें स्थान पर था। 2015 में उसकी रैंकिंग सुधरी और वह 93वें पायदान पर आया। लेकिन ताजा रैकिंग बताती है कि भारत में ऐसे लोगों की संख्या बढ़ी है जिन्हें पेट भर और पर्याप्त पोषण वाला खाना नहीं मिल पा रहा।

पाकिस्तान , बांग्लादेश, नेपाल, और श्रीलंका से भी पीछे

102वें स्थान का मतलब ये है कि पाकिस्तान, बांग्लादेश, नेपाल और श्रीलंका के लोग भारतीयों से पोषण के मामले में बेहत्तर ओर आगे हैं। भारत इस मामले में ब्रिक्स देशों में भी सबसे नीचे है। पाकिस्तान 94वें नंबर पर है, बांग्लादेश 88वें, नेपाल 73वें और श्रीलंका 66वें नंबर पर है।

You may also like

MERA DDDD DDD DD