[gtranslate]
Country

गीता गोपीनाथ जल्द ही देंगी IMF की मुख्य अर्थशास्त्री पद से इस्तीफा; जानिए वजह 

अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष  IMF) की मुख्य अर्थशास्त्री गीता गोपीनाथ जनवरी में इस्तीफा देंगी। भारतीय-अमेरिकी अर्थशास्त्री गीता गोपीनाथ जनवरी 2019 में IMF में शामिल हुईं। लेकिन अब वह प्रतिष्ठित हार्वर्ड यूनिवर्सिटी में लौट रही हैं। अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष ने मंगलवार को यह जानकारी दी।

IMF ने एक बयान में कहा कि हार्वर्ड ने गीता गोपीनाथ की छुट्टी एक साल के लिए बढ़ा दी थी, जिससे उन्हें आईएमएफ में तीन साल के लिए काम करने की इजाजत मिली। गोपीनाथ आईएमएफ के अनुसंधान प्रभाग की प्रमुख हैं, जो जीडीपी वृद्धि के अनुमानों के साथ तिमाही वैश्विक आर्थिक दृष्टिकोण रिपोर्ट तैयार करती है।

आईएमएफ की प्रबंध निदेशक क्रिस्टालिना जॉर्जीवा ने गोपीनाथ की प्रशंसा करते हुए कहा कि उन्होंने कोविड महामारी के दौरान महत्वपूर्ण विश्लेषण कार्य किया है। क्रिस्टालिना जॉर्जीवा ने यह भी कहा कि गोपीनाथ ने आईएमएफ की शीर्ष अर्थशास्त्री के रूप में सेवा करने वाली पहली महिला के रूप में इतिहास रच दिया है।

यह भी पढ़ें : विश्व में कोरोना से 12 करोड़ लोग हुए गरीब : यूएन

49 वर्षीय गीता गोपीनाथ आईएमएफ में शामिल होने से पहले हार्वर्ड विश्वविद्यालय में अंतरराष्ट्रीय अध्ययन और अर्थशास्त्र की प्रोफेसर थीं। हार्वर्ड ने गोपीनाथ की अनुपस्थिति को एक वर्ष के लिए बढ़ा दिया, जिससे उन्हें आईएमएफ में तीन साल तक सेवा करने की अनुमति मिली। मैसूर में जन्मी गीता आईएमएफ की पहली महिला मुख्य अर्थशास्त्री हैं।

IMF की प्रबंध निदेशक क्रिस्टालिना जॉर्जीवा ने कहा कि गीता के उत्तराधिकारी की तलाश जल्द ही शुरू होगी। जॉर्जीवा ने एक बयान में कहा कि गीता का योगदान वास्तव में उल्लेखनीय है। अंतरराष्ट्रीय वित्त और मैक्रोइकॉनॉमिक्स की उनकी गहन समझ से हमें बहुत फायदा हुआ।

वह अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष में इस मुकाम तक पहुंचने वाली दूसरी भारतीय हैं। इससे पहले आरबीआई के पूर्व गवर्नर रघुराम राजन इस पद पर थे। गीता को हाल ही में कार्नेगी कॉर्पोरेशन ऑफ अमेरिका द्वारा सम्मानित किया गया था। उन्हें अमेरिकी समाज और लोकतंत्र को समृद्ध और मजबूत करने में उनके योगदान और कार्यों के लिए सम्मानित किया गया।

मैसूर में जन्मे गोपीनाथ हार्वर्ड यूनिवर्सिटी में प्रोफेसर थी। उन्होंने अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष के लिए भी काम किया। 1 अक्टूबर को उनकी नियुक्ति की घोषणा करते हुए अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) ने गीता गोपीनाथ को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर व्यापक अनुभव के साथ विश्व स्तरीय अर्थशास्त्री के रूप में सम्मानित किया। उन्होंने अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष में अच्छे नेतृत्व गुण दिखाए हैं और दुनिया भर की महिलाओं के लिए एक आदर्श हैं।

You may also like

MERA DDDD DDD DD