[gtranslate]
Country

मुजफ्फरपुर रेप कांड के बाद अब यूपी का देवरिया

 देश में लड़कियों एवं महिलाओं के खिलाफ जघन्य अपराध की घटना के बाद कुछ दिन के लिए राजनीतिक पार्टियां, सामाजिक संगठन और आम लोग सड़कों पर आ जाते हैं। शासन-प्रशासन भी कुछ दिन सख्ती दिखाता है, लेकिन स्थिति में कोई सुधार नहीं होता। हालत यह है कि बालिकाओं और असहाय महिलाओं के लिए खुले संरक्षण गृह या नारी निकेतन ही दुराचार को लेकर निरंतर सुर्खियों में आते रहे हैं।
आज से करीब दो साल पहले वर्ष 2016 मेेंं देहरादून स्थित एक नारी निकेतन मूक बघिर और विक्षिप्त संवासिनियों के साथ अत्याचार को लेकर सुर्खियों में रहा। इस नारी निकेतन की पोल तब खुली जब एक संवासिनी से दुष्कर्म और गर्भपात करवाने का मामला प्रकाश में आया था। इस पर राष्ट्रीय महिला आयोग की टीम तब देहरादून पहुंची थी। राजनीतिक रूप से यह मुद्दा खूब गरमाया था, लेकिन दोषियों का क्या हुआ किसी को पता नहीं।
इन दिनों बिहार के मुजफ्फरपुर के एक शेल्टर होम में बालिकाओं के साथ हुए बलात्कार और बालिकाओं के गायब हो जाने पर  दिल्ली तक राजनीति गरमाई हुई है। विपक्ष राज्य की नीतिश कुमार सरकार को कटघरे में खड़ा कर रहा है। सुशासन बाबू के सुशासन पर सवाल उठ रहे हैं। राज्य की एक महिला मंत्री के पति पर बालिकाओं के साथ अत्याचार के गंभीर आरोप लगाए जा रहे हैं। दिल्ली में राष्ट्रीय जनता दल नेता तेजस्वी यादव के नेतृत्व में प्रदर्शन हो चुका है।
 बिहार के मुजफ्फरपुर का मामला अभी सुर्खियों में ही है कि उत्तर प्रदेश के देवरिया स्थित बालिका गृह से संचालित बड़े देह व्यापार रैकेट का भंडाफोड़ हुआ है। यह मामला तब उजागर हुआ, जब इस बालिका गृह से भागकर एक बच्ची ने महिला थाने जाकर पुलिस से गुहार लगाई। एसपी के निर्देश पर संस्था से 24 बच्चों व महिलाओं को मुक्त कराते हुए उसे सील कर दिया गया। संचालिका, अधीक्षक समेत तीन को पुलिस ने देर रात गिरफ्तार कर लिया। पुलिस का दावा है कि 18 बच्चे अब भी इस संस्था से गायब हैं, जिनके बारे में पता लगाया जा रहा है। मां विंध्यवासिनी महिला प्रशिक्षण एवं समाज सेवा संस्थान के द्वारा संचालित बाल गृह बालिका, बाल गृह शिशु, विशेषज्ञ दत्तक ग्रहण अभिकरण एवं स्वाधार गृह देवरिया की मान्यता को शासन ने स्थगित कर दिया है।

You may also like

MERA DDDD DDD DD