[gtranslate]
Country

कर्नाटक के पूर्व मंत्री वैजनाथ पाटिल का निधन 

प्रशिक्षु नैन्सी तोमर
कर्नाटक के पूर्व मंत्री  वैजनाथ पाटिल का शनिवार सुबह को 82 वर्ष की आयु में निधन हो गया। लम्बी बीमारी के चलते उन्हें बंगलुरु के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया। 82 वर्षीय पाटिल लम्बे समय से बीमार थे। उन्होंने निजी अस्पताल में अंतिम सास ली।
परिवार में  पत्नी,दो बेटियां और तीन बेटे है। उनका अंतिम संसस्कार रविवार को कलबुर्ग जिले के चिचोली में किया जाएगा। पाटिल ने 22 सितमबर को जिला कन्नड़ साहितय परिषद के ‘मनमालदा माटू ‘कार्यकर्म में हिस्सा लिया था। इस कार्यक्रम में उन्होंने आदर्शो के लिए अपने जीवन संघर्ष का जिक्र किया था।
 पाटिल वर्ष 1984 में तत्कालीन मुखयमंत्री रामकृष्ण हेगड़े की कैबिनेट में बाग़बानी और 1994 में एचडी देवगोड़े कैबिनेट में शहरी विकास विभाग के मंत्री थे। कलयाण हैदराबाद ,कर्नाटक को विशेष दर्जा दिलाने के मुद्दे पर उन्होंने मंत्री पद से इस्तीफा दे दिया था। पाटिल कल्याण कर्नाटका [उत्तर पूर्व ] के पिछड़े क्षेत्र को सविधान के अनुछेद 371 के तहत विशेष दर्जा दिलाने की मांग करते हुए दो दशक लंबे संघर्ष में पुरे लगन के साथ शामिल रहे।
 वास्तव में पाटिल कई आंदोलन में सबसे आगे रहे। उनका विचारशील दृष्टिकोण ऐसा था ,कि वे इस क्षेत्र के किसी भी अन्याय के बारे में बात करने में कभी नहीं हिचकते थे और उन्होंने एक बार अपने मंत्री पद से भी इस्तीफा दे दिया था।

You may also like

MERA DDDD DDD DD