[gtranslate]
Country

बुलेट ट्रेन ट्रैक बनाने का काम एल एंड टी को, मुंबई-अहमदाबाद रूट पर दौड़ेगी पहली ट्रेन

जापान ने बुलेट ट्रेन लाकर सभी को चौंका दिया था। विश्व के अलग-अलग देश इस ट्रेन के सपने देखने लगे। रफ्तार और समय की बचत करती बुलेट ट्रेन का सपना अब  भारत में भी सच होने वाला है। भारत में पिछले कई सालों से बुलेट ट्रेन लाने की कोशिश हो रही थी।  नरेंद्र मोदी सरकार की महत्वाकांक्षी योजना बुलेट ट्रेन का सपना अब सच हो रहा है। देश की पहली बुलेट ट्रेन मुंबई से अहमदाबाद रूट पर चलेगी। दोनों शहरो के बीच 508 किलोमीटर का लंबा हाई स्पीड कोरिडोर बनाया जाएगा। कोरिडोर का निर्माण कई हिस्सों में होगा, बापी और बडोदरा के बीच 237 किलोमीटर लंबे रूट का निर्माण लार्सन  एंड टुब्रो लिमिटेड करेगी। रूट के निर्माण के लिए गुरुवार को नेशनल हाई स्पीड रेल कॉर्पोरेशन लिमिटेड  और लार्सन एंड टुब्रो लिमिटेड के बीच एग्रीमेंट हुआ। इस दौरान जापान के राजदूत संतोषी सुजुकी, रेलवे बोर्ड के चेयरमैन वीके यादव, एनएचएसआरसीएल के प्रबंध निदेशक अचल खरे, एलएंडटी के सीईओ और एमडी एसएन सुब्रह्मण्यम और नीति आयोग के अधिकारी मौजूद थे।

दिसंबर के पहले सप्ताह में इस रूट पर काम शुरु होगा। मिली जानकारी के अनुसार इसे 2024 तक पूरा किया जाएगा। सूरत सहित चार अन्य स्टेशनों का निर्माण इस रूट पर होगा। सूरत में ट्रेन का मेंटेनेंस डिपो बनाया जाएगा। इसके अलावा लार्सन एंड टुब्रो लिमिटेड इस रूट पर 14 रिवर ब्रिज, 42 रोड क्रॉसिंग, 6 रेलवे क्रॉसिंग और भरूच-वडोदरा के बीच 350 मीटर लंबी पहाड़ी सुरंग बनाई जाएगी। बुलेट ट्रेन के बीच बनने वाले 5 क्रकीट ब्रिज और 11 स्टील ब्रिज का टेंडर भी एनएचएसआरसीएल ने जारी कर दिया है। यह टेंडर पी 1 बी और पी 1 सी दो हिस्से के पैकेज में है। पी 1 बी पैकेज के टेंडर में 237.1 किमी रूट शामिल है। इसमें दोहरी लाइन वाले स्टील और कंक्रीट ब्रिज ब्रिज बनेंगे। इसकी डेडलाइन तीन साल होगी। 18 फरवरी 2021 को ये टेंडर खुलेगा। पी 1 सी पॅकेज में वडोदरा से अहमदाबाद के बीच 87 किमी रूट शामिल है।

मुंबई-अमदाबाद बुलेट ट्रेन प्रोजेक्ट के लिए कुल तीन कंपनियों ने टेंडर भरा था। हालांकि इन कंपनियों ने कुल आठ इंफ्रास्ट्रक्चर डिवेलप करने वाली कंपनियों के साथ मिलकर संयुक्त रूप से इस रेल कॉरिडोर के लिए टेंडर भरा है। इसके लिए एफकॉन्स इंफ्रास्टक्टर लिमिटेड ने इरकॉन इंटरनैशनल लिमिटेड और जेएमसी प्रोजेक्ट्स इंडिया लिमिटेड के साथ मिलकर टेंडर भरा है। वहीं, टेंडर भरने वाली दूसरी कंपनी लार्सन ऐंड टूब्रो है। वहीं, एनएचआरसीएल लिमिटेड ने टाटा प्रोजेक्ट लिमिटेड, जे कुमार इंफ्रा प्रोडेक्ट्स और एचएसआर कंसोर्टियम के साथ मिलकर टेंडर भरा है। लेकिन टेंडर लार्सन ऐंड टूब्रो लिमिटेड को मिला है। एलएंडटी के मुख्य कार्यपालक अधिकारी और प्रबंध निदेशक एस एन सुब्रमणियम ने वित्तीय परिणाम की घोषणा के दौरान कहा, ‘‘हमने सरकार से अब तक का सबसे बड़ा कॉन्ट्रैक्ट हासिल किया है। यह 25,000 करोड़ रुपये का आर्डर है। यह हमारे लिये सबसे बड़ा कॉन्ट्रैक्ट है। साथ ही इतनी बड़ी राशि का यह सबसे बड़ा सिंगर प्रोजेक्ट आर्डर है, जिसे सरकार ने दिया है।” मौजूदा समय में लार्सन एंड टूब्रो कंपनी का बाजार पूंजीकरण 1.59 लाख करोड़ रूपए है।

You may also like

MERA DDDD DDD DD