[gtranslate]
Country

किसानों ने फहराया लालकिले पर झंडा, दिल्ली पुलिस का किसानों से टकराव जारी

आज जिसका डर था आखिर वही हुआ। ट्रैक्टर रैली के दौरान किसानों और पुलिस का टकराव हो गया।किसान सिंधु बॉर्डर के साथ ही टीकरी बॉर्डर और गाजीपुर बॉर्डर से तय समय से पहले ही दिल्ली में कूच कर गए। किसानों से दिल्ली पुलिस से कहा था कि वह 12 बजे के बाद गणतंत्र दिवस की परेड हो जाने के बाद ही अपनी ट्रैक्टर परेड निकालेंगे।

देखते ही देखते दिल्ली में किसानों के ट्रैक्टर मार्च में पुलिस के साथ बवाल हो गया है। किसान बैरिकेड तोड़कर लाल किले पर पहुंच गए और एक झंडा फहरा दिया। जिसे निशान साहिब बताया जा रहा है। जबकि किसानों का एक जत्था इंडिया गेट की तरफ बढ़ गया। इस दौरान आईटीओ पर पुलिस ने किसानों पर लाठीचार्ज कर दिया तो किसानों ने भी इसके जवाब में पुलिस पर पथराव कर दिया। पुलिस के लाठीचार्ज से मची भगदड़ ट्रैक्टर पलटने से एक किसान की मौत हो गई।

याद रहे कि पुलिस ने किसानों से कहा था कि गणतंत्र दिवस की परेड खत्म होने के बाद 12 बजे से ट्रैक्टर मार्च निकालें। लेकिन किसानों ने गणतंत्र दिवस की परेड शुरू होने से पहले ही ट्रैक्टर मार्च शुरू कर दिया। किसान बैरिकेड तोड़कर आगे बढ़ते गए और पुलिस ने जो रूट दिया किसानों ने उसको फॉलो नही किया। किसानों का आक्रामक रुख देख पुलिस भी पीछे हट गई है।

पुलिस ने शर्तों के साथ किसानों को ट्रैक्टर परेड निकालने की इजाजत दी थी। किसानों ने खुद भी कुछ नियम तय किए थे, लेकिन ट्रैक्टर मार्च आगे बढ़ा तो प्रदर्शनकारियों ने सभी नियम-कायदे ताक पर रख दिए गए। कई जगह पुलिस कर्मी किसानों के सामने रोड रोक कर धरने पर बैठे देखे गए।

गाजीपुर बॉर्डर से निकले किसानों के काफिले की वजह से आईटीओ पर भारी जाम लग गया। यहां प्रदर्शनकारियों ने वाहनों पर पथराव भी किया। सिंघु से निकले किसानों ने भी कई जगह पथराव किया। डीटीसी की बस तोड़ी गयी। पुलिस को भी पीटा।

मुकरबा चौक के पास किसान जब तय रूट से हटकर आईएसबीटी की तरफ बढ़ने लगे तो पुलिस ने आंसू गैस के गोले छोड़कर रोकने की कोशिश की। लेकिन किसान बैरिकेड तोड़ते हुए आगे बढ़ गए। किसानों ने पुलिस की गाड़ी समेत डीटीसी की कई बसों के शीशे भी तोड़ दिए। फिलहाल, खबर लिखे जाने तक किसानों और पुलिस का टकराव जारी है।

You may also like

MERA DDDD DDD DD