[gtranslate]
Country

एकता के चलते सुर्खियों में है यह परिवार

मौजूदा समय में भारतीय समाज में संयुक्त परिवारों का दौर खत्म होता जा रहा है। आये दिन पारिवारिक संपत्ति को लेकर आपराधिक घटनाओं की खबरें आती रहती हैं लेकिन महाराष्ट्र के सोलापुर का एक परिवार अपनी एकता के चलते सुर्खियां बटोर रहा है। दरअसल महाराष्ट्र में रहने वाला एक जॉइंट परिवार ऐसा है जिसमें 72 सदस्य हैं। जो कि एक छत के नीचे हंसी-खुशी से रहते हैं। इस 72 सदस्यों की फैमिली में प्रतिदिन 1 हजार से 12 सौ रुपये तक की सब्जियों की खपत होती है वहीं 10 लीटर दूध प्रतिदिन लगता है। ये परिवार मूल रूप से कर्नाटक का रहने वाला है। जो तकरीबन सौ साल पहले कर्नाटक से सोलापुर आया था। गौर करने वाली बात यह है कि इस व्यापारी परिवार की चार पीढ़ियां एक साथ, एक घर में रहती हैं। परिवार में रहने वाली महिलाओं के मुताबिक शुरुआत में तो वो परिवार में रहने वाले सदस्यों की संख्या से डरती थीं, लेकिन अब वो इसमें घुल- मिल गई हैं।

इस परिवार की वीडियो बीबीसी द्वारा शूट की गई है। जिसके बाद यह परिवार काफी चर्चा में आ गया है। इस दोईजोडे परिवार का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। दोईजोडे परिवार की वीडियो को ट्विटर पर @Ananth_IRAS यूजर द्वारा शेयर किया गया है। सुर्खियां बटोर रही इस वीडियो में परिवार के एक सदस्य अश्विन दोईजोडे का कहना है कि उनका इतना बड़ा परिवार है कि उन्हें सुबह और शाम मिलाकर 10 लीटर दूध की जरूरत होती है, हर दिन खाने में लगभग 12 सौ रुपये की सब्जियां लग जाती हैं। वहीं नॉनवेज खाने की बात करते हुए उन्होंने बताया कि नॉनवेज खाना तीन से चार गुना अधिक महंगा पड़ता है।

ये परिवार साल भर का करीब चालीस से पचास बोरी चावल, गेहूं और दाल खरीदता हैं। बड़ी मात्रा में जरुरत होने की वजह से इन वस्तुओं को थोक में खरीदा जाता है। वहीं इस बिगेस्ट जॉइंट फैमिली की एक बहु नैना दोईजोडे के मुताबिक इस परिवार में पैदा हुए और पले-बढ़े लोग प्यार से रहते हैं, लेकिन जो महिलाएं इसमें शादी कर आई हैं, उन्हें शुरू में थोड़ी मुश्किल होती है। उन्होंने अपना अनुभव साझा करते हुए वीडियो में बताया कि शुरुआत में मुझे इस परिवार के सदस्यों की संख्या से डर लगता था। लेकिन परिवार के सदस्यों द्वारा मदद की गई। मेरी सास, बहन और देवर ने मुझे घर में एडजस्ट करने में मदद की। जिससे अब सब कुछ सामान्य है।

 

 

बाहर खेलने जाने की जरूरत नहीं

 

ये परिवार इतना बड़ा है कि यहां के बच्चों को बाहर खेलने जाने की जरूरत नहीं पड़ती। परिवार की युवा सदस्य अदिति दोईजोडे का कहना है कि जब हम बच्चे थे, तो हमें कभी खेलने के लिए बाहर नहीं जाना पड़ता था, हमारे पास परिवार के इतने सारे सदस्य हैं कि हम आपस में ही खेल लेते हैं ,अदिति के मुताबिक परिवार ने उन्हें किसी और के साथ बात करने के लिए काफी हिम्मती बनाया है, इतने सारे लोगों को एक साथ रहते हुए देखकर उनके सभी दोस्त बहुत खुश होते हैं। इस अद्भुत परिवार की वीडियो को सोशल मीडिया पर कई लोगों ने सराहा है। यूजर्स ने प्रतिक्रिया देते हुए लिखा है कि – अद्भुत परिवार , एक दूसरे यूजर ने भारतीय संस्कृति की प्रशंसा की है। वहीं एक और यूजर ने लिखा- दुखद, हम भारतीयों ने 21वीं सदी की शुरुआत में संयुक्त परिवार के कॉन्सेप्ट को खो दिया है।

यह भी पढ़ें : कई राज्यों से गायब हुआ बटर

You may also like

MERA DDDD DDD DD