[gtranslate]
Country

सुप्रीम कोर्ट की निगरानी में जांच चाहते हैं हाथरस गैंगरेप की शिकार लड़की के परिजन

उत्तर प्रदेश के हाथरस में हुए गैंगरेप ने पूरे  देश को झकझोर कर रख दिया है। गैंगरेप का शिकार हुई दिंवगत युवती को इंसाफ दिलाने के लिए देशभर में भारी  गुस्सा है। पीड़िता की मौत के बाद जिस तरह  परिजनों की अनुपस्थिति में  उसका अंतिम संस्कार कर दिया गया उसको लेकर  कई सवाल खड़े हो रहे हैं।

इस बीच  प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भले ही हाथरस मामले में  सभी वादी- प्रतिवादियों का नारको टेस्ट और पालिग्राफिक टेस्ट कराने की बात कही हो, पर इस मामले में पीड़ित परिवार के लोग नारको टेस्ट कराने को तैयार नहीं हैं। पीड़िता की भाभी का कहना है कि जब वो सच बोल रहे हैं तो फिर  नारको टेस्ट किस बात का होगा। पीड़िता की भाभी स्थानीय प्रशासन और पुलिस से बेहद नाराज हैं।

पीड़िता की भाभी ने यह भी कहा कि यहां पर कोई एसआईटी की टीम नहीं आई है बल्कि कुछ पुलिस वाले बस यहां पहुंचे थे। वह डीएम प्रवीण कुमार से भी बेहद नाराज हैं । उनका कहना है कि डीएम साहब बोलते थे कि तुम्हारी बेटी अगर कोरोना से मर जाती तो क्या कर लेते।

ख़बरों के मुताबिक  पीड़िता के परिवार ने सीबीआई जांच से भी इनकार किया है। परिजनों ने कहा कि हमें किसी पर भी भरोसा नहीं है। पीड़िता की भाभी ने कहा, किसी नेता का हमारे पास कॉल नहीं आया। सब लोग राजनीति के लिए आ रहे हैं, हमें न्याय चाहिए और कुछ नहीं चाहिए।
पीड़िता की भाभी ने कहा, जब हमने शव दिखाने की बात कही तो डीएम ने कहा कि आपको पता है पोस्टमॉर्टम के बाद डेड बॉडी का क्या हाल हो जाता है, हथौड़े से मारकर हड्डियां तोड़ दी जाती है। पोस्टमॉर्टम की वजह से बहुत कटी-फटी हालत में है। तुम लोग नहीं देख पाओगे।

पीड़िता की भाभी ने कहा कि डीएम और एसपी का नार्को टेस्ट क्यों नहीं कराया जा रहा है। स्थानीय प्रशासन से बेहद नाराज पीड़िता की भाभी ने कहा कि परिवार पर बार-बार बयान बदलने के लग रहे आरोपों से वह बेहद दुखी हैं । उन्होंने कहा कि जब बयानों के वीडियो हैं तो फिर कहां झूठ की बात आ गई ।
वहीं पीड़िता की मां ने मीडिया से बातचीत में कहा, हमारी बेटी की मिट्टी नहीं दी उन्होंने। मेरी बहू ने कहा कि दिखा दो एक बार। एसआईटी वाले हमसे कहते कि अरे तुमको पता नहीं कि तुम्हारे खाते में कितने पैसे गए हैं । हमें बिना दिखाए बॉडी को जला दिया गया । हम अपनी बिटिया को आखिरी बार देख तक नहीं पाए।
उन्होंने आगे कहा, हमें कुछ नहीं पता है कि नार्को टेस्ट क्या होता है। हम टेस्ट नहीं कराएंगे। पीड़िता की मां ने पुलिस पर ऐक्शन की जानकारी होने की बात से भी इनकार किया है।दिवंगत पीड़िता के परिवार ने कहा, हम चाहते हैं कि सुप्रीम कोर्ट की निगरानी में जांच हो।

You may also like

MERA DDDD DDD DD