[gtranslate]
Country Uttarakhand

लंदन में रहकर भी देश धर्म निभा रहे प्रवासी उत्तराखंडी, भेजें 200 ऑक्सीमीटर

इस कोरोना कॉल महामारी में हर कोई इंसानियत का धर्म निभाना चाहता है। हर व्यक्ति यह चाहता है कि कोई कोरोना मरीज अगर परेशान है तो उसे सहायता दी जाए। यह सहायता किसी भी रूप में हो सकती है । इसी के साथ विदेशों में भी रह रहे भारतीयों में अपने देश के प्रति जज्बा जगा है।

दूसरे देशों में रह रहे लोग कोई न कोई सहायता सुलभ करा कर अपना देश धर्म निभा रहे हैं । ऐसे ही प्रवासी हैं उत्तराखंडी। जिन्होंने महामारी के इस दौर में भी अपना देश धर्म नहीं भूला है। जी हां हम बात कर रहे हैं उत्तराखंडी प्रवासियों की। जो लंदन में रह रहे हैं।

लंदन में रह रहे ऐसे उत्तराखंडी प्रवासियों ने अपने मुल्क के लिए फर्ज निभाते हुए पहली खेप में 200 ऑक्सीमीटर भेजे हैं। यह ऑक्सीमीटर प्रवासियों ने राज्यसभा सांसद अनिल बलूनी की पहल पर अपने गृह प्रदेश उत्तराखंड को भेजे हैं।

गौरतलब है कि कुछ दिनों पूर्व से ही राज्यसभा सांसद अनिल बलूनी प्रवासी उत्तराखंडियों से अपील कर रहे हैं कि वह अपने देश खासकर उत्तराखंड के कोरोना पीड़ित लोगों के लिए सहायता प्रदान करें। ऐसे लोग जो कोरोना से पीड़ित है वह समुचित इलाज के लिए परेशान है।

ऐसे में उनके लिए लंदन में रह रहे प्रवासी उत्तराखंडियों की 200 ऑक्सीमीटर की पहली खेप की सराहना की जा रही है।200 ऑक्सीमीटर की यह पहली खेप मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत के विशेष कार्य अधिकारी जगमोहन सुंदरियाल को सौंपी गई है। इनको नैनीताल के जिलाधिकारी को दिया जाएगा।

गौरतलब है कि ब्रिटेन में उत्तराखंड के प्रवासी नागरिकों ने एक उत्तराखंड वेलफेयर एसोसिएशन बना रखी है। उसी उत्तराखंड वेलफेयर एसोसिएशन के सदस्यों ने अपने गृह प्रदेश को 200 ऑक्सीमीटर की भेंट की है। बताया जा रहा है कि अभी आगे भी उत्तराखंडी प्रवासी अपने गृह प्रदेश में कोरोना बीमारी को खत्म करने में सहायक उपकरणों और दवाइयों को भिजवाएंगे। राज्यसभा सांसद अनिल बलूनी ने लंदन में रह रहे उत्तराखंडी प्रवासियों का आभार व्यक्त किया है ।

यहां यह भी बताना जरूरी है कि अनिल बलूनी ने ऑक्सीजन सिलेंडर, ऑक्सीजन कंसंट्रेटर की उपलब्धता सुनिश्चित कराने के बाद ऑक्सीमीटर की तरफ प्रवासियों का ध्यान दिलाया था। जिसमें उन्हें सफलता मिली है।

You may also like

MERA DDDD DDD DD