[gtranslate]
Country

शर्मसार हुई खाकी : पुलिस थाने से संचालित होता हनी ट्रैप का खेल, मास्टरमाइंड महिला इंस्पेक्टर

गुजरात की अहमदाबाद क्राइम ब्रांच ने एक सनसनीखेज खुलासा किया है। क्राइम ब्रांच ने हनीट्रेप के मामले में बड़ी कार्रवाई करते हुए अहमदाबाद महिला थाने में तैनात रही एक महिला इंस्पेक्टर गीता पठान की संलिप्ता को उजागर किया। फिलहाल उसे गिरफ्तार कर लिया गया है।

कुछ दिनों पहले एक बिजनेस मैन ने अपने साथ ब्लैकमेलिग का मामला दर्ज कराया था।
क्राइम ब्रांच ने इस मामले में जितेंद्र उर्फ जीतू मोदी, बिपिन परमार, उन्नति उर्फ राधिका राजपूत और जान्हवी उर्फ जीनल पढियार को गिरफ्तार किया था। क्राइम ब्रांच को पूछताछ में इंस्पेक्टर गीता पठान का नाम सामने आया है। गीता पठान ने गैंग के साथ मिलकर बिजनेस मैन से बडी रकम वसूली थी।

इंस्पेक्टर गीता पठान के बारे में खुलासा करते हुए क्राइम ब्रांच ने बताया कि वह हनीट्रैक गैंग की मास्टरमाइंड थी। इंस्पेक्टर गीता पठान और उनकी गैंग की युवतियां सोशल मीडिया पर लोगों को पहले अपने जाल में फंसाते थे । फंसाने के बाद वह उन्हें होटल में ले जाती थीं। इसके बाद होता था पुलिस का काम शुरू।

जब वह जाल में पूरी तरह फंस जाते थे तो उन्हें पुलिस थाने में ले जाया जाता था। जहां मामले को खत्म करने के लिए सेटिंग गेटिग का खेल खेला जाता था।
इस खेल में लाखों रुपयों की अवैध वसूली की जाती थी।

क्राइम ब्रांच ने जब इस मामले में खुलासा किया तो उसके बाद पीड़ित सामने आने लगे हैं। अब तक चार शिकायते दर्ज हो चुकी है। खाकी के इस गिरोह द्वारा लोगों से अब तक 26 लाख रुपए वसूले जा चुके हैं। आरोपी महिला इंस्पेक्टर गीता पठान फिलहाल अहमदाबाद के पाटण थाने में तैनात हैं। शिकायत दर्ज होते ही वह फरार हो गई थी। लेकिन अंततः उसे क्राइम ब्रांच टीम ने गिरफ्तार कर लिया।

क्राइम ब्रांच की पकड़ में यह मामला उस समय आया जब एक महिला बार-बार अपना नाम बदलकर लोगों पर दुष्कर्म के आरोप लगाकर मामला दर्ज करा रहे थी। क्राइम ब्रांच जब इसकी तह में पहुंची तो पता चला कि यह पूरा गैंग चल रहा है। जो पहले सोशल मीडिया पर अधेड़ पुरुषों को अपनी फेक आईडी से फ्रेंड बनाते हैं। उसके बाद उन्हें अवैध संबंधों के नाम पर अपने जाल में फंसा लिया जाता था।

गैंग की महिला पता बताए गए स्थान पर पहुंच जाती है। जहां पहले से ही उनका गैंग छुपे हुए कैमरों से उनकी अश्लील वीडियो बना लेता है। इसके बाद वीडियो वायरल करने की धमकी देकर अधेड पुरुष को ब्लैकमेल किया जाने लगता था। जब तक वह पैसा देता रहता है तब तक ठीक। लेकिन जब पैसा देने से वह आनाकानी करने लगते तो उनके खिलाफ रेप का मामला दर्ज करा दिया जाता।

रेप का यह मामला दर्ज कराया जाता अहमदाबाद के महिला थाने में। जिस थाने में गीता पठान इस्पेक्टर थी। इसके बाद जब आरोपी को पकड़ कर थाने लाया जाता तो उससे सेटलमेंट कर लाखों रूपये वसूल लिए जाते।

बताया जा रहा है कि ऐसे अब तक कई लोग जाल में फंसा कर अवैध वसूली का शिकार हो चुके हैं । क्राइम ब्रांच अभी भी जांच में जुटी है। बताया जा रहा है कि इस्पेक्टर गीता पठान के साथ ही इसी थाने की एक महिला सब इंस्पेक्टर और कांस्टेबल भी इस गोरखधंधे में शामिल थी। फिलहाल उनकी तलाश की जा रही है।

You may also like

MERA DDDD DDD DD