[gtranslate]
Country

डॉक्टर और पुलिस पर हमले से शर्मसार लोगों ने अखबार में छपवाया इश्तहार, मांगी माफी

डॉक्टर और पुलिस पर हमले से शर्मसार लोगों ने अखबार में छपवाया इश्तहार, मांगी माफी

डॉक्टर और पुलिस पर इंदौर के टाटपट्टी बाखल इलाके में हमला करने वाले लोगों की तरफ से मुस्लिम समाज ने माफी मांगी है। मुस्लिम समाज के लोगों ने अख़बार में एक इश्तिहार देकर घटना की निंदा और माफी की अपील की है। विज्ञापन में कोरोना महामारी का इलाज कर रही मेडिकल टीम पर हमले की घटना पर माफी के कोई अल्फाज न होने की बात कही गई है। हालांकि, इस माफीनामे में माफी की अपील करने वालों के नामों का उल्लेख नहीं किया गया है। लेकिन इस माफीनामे में जिन डॉक्टर और स्वास्थकर्मी को हमले का शिकार बनाया गया उनके नाम जरूर हैं।

गौरतलब है कि पिछले दिनों मध्‍य प्रदेश के इंदौर से बेहद निंदनीय घटना सामने आई थी। यहां कोरोना के संभावित मरीजों की जांच के लिए आई मेडिकल टीम पर पत्थरों से हमला किया गया। इस पथराव से बचकर किसी तरह दो महिला चिकित्सक जान बचाकर भागी थी। इनमें से एक डॉ जाकिया सैय्यद थीं और दूसरी डॉक्टर का नाम था डॉ. तृप्‍ति कटदरे। हमले के बाद भी दोनों ही डॉक्टरों ने हिम्मत नहीं हारी। ये दोनों डॉक्टर कोरोना के खिलाफ जंग में लगातार काम कर रही हैं। आगे कल ये भी खबर आई कि वहां के लोगों में एक वाट्सएप मैसेज फैलाया गया था। जिसमें ये अफवाह फैलाई गई थी कि जांच के लिए आने वाले डॉक्टर उस इलाके में कोरोना संक्रमण फैलाने आ रहे हैं।

जिसके बाद  इस घटना ने पूरे शहर को शर्मिंदा कर दिया था। मुस्लिम बहुल इलाके से आए इन पत्‍थरबाजों की हर ओर से निंदा हुई। अगले ही दिन इंदौर के टाटपट्टी बाखल इलाके में अपने पर हमला होने के बावजूद दोनों लेडी डॉक्टर वहां जाँच करने गई थी। जांच में इस इलाके से 18 संक्रमित लोगों की जान बचाई। लेकिन अब इंदौर की इस अप्रिय घटना के लिए शहर के उपद्रवी लोगों की ओर से मुस्लिम संगठनों ने अखबार में विज्ञापन देकर माफी मांगी है।

माफीनामे में क्या?

अखबार में दिए गए माफीनामे लिखा है कि डॉ तृप्ति कटारिया, डॉ जाकिया सैयद, समस्त डॉक्टर्स, नर्सेज, मेडिकल टीम, शासन-प्रशासन के समस्त अधिकारी, सभी पुलिसकर्मी, आशा-आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, संस्थाएं और समस्त लोग जो इस आपदा से बचाव में लगे हुए हैं। हमारे पास अल्फाज नहीं जिससे हम आपसे माफी मांग सकें, यकीन कीजिए हम सभी शर्मसार हैं हर उस अप्रिय घटना के लिए जो जाने-अनजाने अफवाहों में आकर हुई। हम इकरार करते हैं कि उस रब के बाद आप लोग हीं हैं जो हमेशा से हमारी हर बीमारी में, हर मुश्किल समय में हमारे लिए दीवार बनकर खड़े रहें। इसलिए आज हम दिल से आप सभी से माफी मांगना चाहते हैं, हमें माफ कर दीजिए। हम उस वक्त में पीछे जाकर उसे सुधार तो नहीं कर सकते पर वादा कर सकते हैं कि भविष्य में समाज की हर कमी को खत्म करने की हर संभव कोशिश करेंगे।

You may also like