[gtranslate]
Country

कैप्टन अमरिंदर सिंह के नेतृत्व में चुनाव नहीं लड़ेगा सिद्धू गुट , विधायक धीमान ने खोला मोर्चा 

ज्यादातर राज्यों में पहले ही अपनी सत्ता गंवा चुकी कांग्रेस पार्टी में मतभेद कम नहीं हो पा रहे हैं।  जिन राज्यों में कांग्रेस की सरकार है, वहां भी पार्टी की अंदरूनी कलह खत्म होने का नाम नहीं ले रही है। पंजाब कांग्रेस में आलाकमान की तमाम कोशिशों के बाद भी राज्य के दो शीर्ष नेता मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह और प्रदेश अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू के बीच अंदरूनी कलह एक बार फिर सामने आई है।

 

 


विधायक सुरजीत धीमान ने मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के खिलाफ खोला मोर्चा

 

 

राज्य में पार्टी की सत्ता में फिर से वापसी की जो संभावनाएं दिखाई दे रही थी , उन पर आपसी कलह का ग्रहण लगता दिखाई दे रहा है। हालत यह है कि राज्य के प्रदेश अध्यक्ष  नवजोत सिद्धू गुट के विधायक सुरजीत धीमान ने मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। उन्होंने कहा है कि वह 2022 में होने वाले विधानसभा चुनाव कैप्टन के नेतृत्व में नहीं लड़ेंगे। साथ ही उन्होंने मांग की है कि आलाकमान को प्रदेश अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू को मुख्यमंत्री का चेहरा बनाना चाहिए।

 

यह भी पढ़ें : पंजाब कांग्रेस के झगड़े में पिस रहे हरीश रावत 

 

कांग्रेस विधायक धीमान का यह बयान ऐसे समय पर आया है, जब काफी दिनों से कांग्रेस में मची कलह थोड़ी ठंडी पड़ी हुई थी। धीमान सिद्धू के करीबी हैं। कैप्टन अमरिंदर सिंह को मुख्यमंत्री पद से हटाने की मुहिम में सिद्धू के साथ ही वह भी जुटे थे। नेतृत्व परिवर्तन को लेकर देहरादून में हरीश रावत से मिलने वालों में भी धीमान शामिल थे । धीमान ने अपने इस बयान को लेकर यह भी कहा है कि वह जो भी कहते हैं उससे पलटते नहीं हैं।

हालांकि इससे पहले भी नेतृत्व परिवर्तन को लेकर कई विधायक खुले मंच से बोल चुके हैं, लेकिन आलाकमान इसको सिरे से खारिज कर चुका है। पंजाब प्रभारी हरीश रावत भी कह चुके हैं कि पंजाब में सब कुछ ठीक नहीं है। हालांकि वे देहरादून में यह भी कह चुके हैं कि कैप्टन और सिद्धू के झगड़े से कांग्रेस को फायदा होगा। दरअसल , राज्य के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह और प्रदेश अध्यक्ष नवजोत सिंह सिध्दू  के बीच नोक – झोंक काफी समय से चल रही  है।

You may also like

MERA DDDD DDD DD