[gtranslate]
Country

आयकर विभाग के दायरे में आयी चुनाव आयुक्त अशोक लवासा की पत्नी

चुनाव आयुक्त अशोक लवासा की पत्नी नोवेल सिंघल लवासा आयकर विभाग के दायरे मे आ गई है। दरअसल आयकर विभाग ने नोवेल सिंघल लवासा को कई कंपनियों के निदेशक के रूप में उनकी आय को लेकर नोटिस भेजा है। इनकम टैक्स रिटर्न में गड़बड़ी पाए जाने के बाद आयकर विभाग पिछले कई महीनो से इस मामले की जांच कर रहा था। विभाग ने अब उन्हें नोटिस भेजकर स्पष्टीकरण मांगा है। अधिकारियों ने बताया कि शुरुआती जांच के बाद विभाग ने उनसे अपनी निजी वित्तीय मामलों के बारे में और अधिक ब्योरा उपलब्ध कराने को कहा है।उन्होंने बताया कि विभाग नोवेल सिंघल लवासा की आईटीआर को खंगाल रहा है ताकि यह पता चल सके कि क्या उनकी आय पूर्व सालो में आकलन से बच निकली थी या उन्होंने कर अधिकारियों से कुछ छिपाया है।
2005 में स्टेट बैंक ऑफ इंडिया से इस्तीफा देने के बाद नोवेल सिंघल लगभग एक दर्जन से अधिक कंपनियों की निदेशक बनीं। नोवेल उस समय कंपनियों की निदेशक बनीं जब उनके पति भारत सरकार में सचिव के पद पर थे। केंद्रीय वित्त सचिव के पद से सेवानिवृत्त होने के बाद अशोक लवासा को 23 जनवरी 2018 को चुनाव आयुक्त नियुक्त किया गया था।
अशोक लवासा अप्रैल-मई में हुए लोकसभा चुनाव के दौरान सुर्खियों में आ गए थे। लवासा ने आचार संहिता के कथित तौर पर उल्लंघन के मामले में पीएम मोदी और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह के खिलाफ शिकायतों वाले चुनाव आयोग के क्लीन चिट देने के फैसले पर असहमति जताई थी। उन्होंने पीएम मोदी और अमित शाह से जुड़े पांच मामलों में क्लीन चिट दिए जाने का विरोध किया था।

You may also like