Country

शिक्षक भर्ती घोटाला: तू डाल-डाल, मैं पात-पात

‘‘तू डाल-डाल, मैं पात-पात’’। ये स्थिति है यूपी में भ्रष्टाचार की। सूबे में चाहें किसी की भी सरकार रही हो लेकिन यूपी के तथाकथित भ्रष्ट अधिकारी और कर्मचारी सरकार और उसकी योजनाओं पर भारी पड़ ही जाते हैं। चाहें कितनी ही फूलप्रूफ योजनाएं क्यों न बना ली जाएं, बाबू से लेकर अफसर तक उसमें सेंध लगा ही लेते हैं। यूपी में भ्रष्ट अधिकारियों-कर्मचारियों की करतूतों से जुड़ा ऐसा ही मामला उस वक्त प्रकाश में आया जब परिषदीय प्राथमिक स्कूलों में सहायक अध्यापकों की भर्ती के लिए पहली बार करायी गयी लिखित परीक्षा का परिणाम सामने आया। परिणाम सामने आने पर ऐसे-ऐसे कारनामे प्रकाश में आए कि दांतों तले उंगली दबाने पर विवश हो जाना पडे़। 
विगत दिनों परिषदीय प्राथमिक स्कूलों में 68500 सहायक अध्यापकों की भर्ती के लिए उत्तर प्रदेश में पहली बार कराई गई लिखित परीक्षा के परिणाम में कई ऐसे मामले सामने आए जिससे यह साबित हो गया है कि सरकार भ्रष्टाचारमुक्त प्रदेश बनाने के लिए लाख दावे कर ले लेकिन भ्रष्ट अफसर कोई मौका हाथ से जाने नहीं देते। परीक्षा नियामक प्राधिकारी कार्यालय ने दो ऐसे अभ्यर्थियों को सफल घोषित कर दिया जो परीक्षा में शामिल ही नहीं हुए थे। यही नहीं, परीक्षा में फेल कुल 23 अभ्यर्थियों को पास भी कर दिया गया। इन 23 अभ्यर्थियों में से 3 ने तो आवेदन भी नहीं किया था। शेष 20 अभ्यर्थियों ने शिक्षक भर्ती के लिए आॅनलाइन आवेदन किया था और फेल होने के बावजूद इन्हें जिलों का आवंटन भी कर दिया गया। हालांकि अफसरों ने बेहद शातिराना अंदाज में अपने नाते-रिश्तेदारों को लाभान्वित करने के लिए यह खेल खेला था लेकिन विभाग के ही कुछ कर्मचारियों की सक्रियता की वजह से भ्रष्टाचार का खुलासा हो गया। दावा तो यह किया जा रहा है कि अब उन अधिकारियों की खैर नहीं जो इस भ्रष्टाचार में शामिल थे, वहीं दूसरी ओर विभागीय कर्मचारी यह दावा कर रहे हैं गड़बड़ी करने वाले अफसरों को कार्रवाई की जद में लाने के बजाए कुछ निचले क्रम के कर्मचारियों को ही बली का बकरा बनाकर हाथ झाड़ लिए जायेंगे। फिलहाल जिन जिलों में इन 20 फेल अभ्यर्थियों को भेजा गया था वहां के बेसिक शिक्षा अधिकारियों को पत्र भेजकर इन्हें नियुक्ति पत्र जारी करने से रोक दिया गया है। बताते चलें कि मैनपुरी, अलीगढ़, बाराबंकी, सीतापुर, देवरिया, कुशीनगर, महाराजगंज, बलरामपुर, मुरादाबाद, जौनपुर, चित्रकूट, बुलंदशहर, गोंडा और मेरठ में फेल अभ्यर्थियों को भेजा गया था। जब अभ्यर्थियों ने रोष प्रकट करते हुए जानकारी मांगी तो उप सचिव (बेसिक शिक्षा परिषद) स्कन्द शुक्ल की ओर से यह कहा गया कि किन्हीं अपरिहार्य कारणों से नियुक्ति पत्र जारी नहीं किया जा सका है जबकि दावा किया जा रहा है कि भ्रष्टाचार की पोल खुल जाने के पश्चात फंसने से बचने के लिए ही नियुक्ति पत्र रोके गए। दूसरी ओर पास अभ्यर्थियों को फेल दिखा दिया गया। अंकित वर्मा और मनोज कुमार की स्कैन्ड काॅपियां मिलने के बाद मामले का खुलासा हुआ। शिकायत दर्ज करवाने वाले अभ्यर्थियों की बात सही साबित हुई। अंकित वर्मा की काॅपी पर 122 नंबर दर्ज  थे जबकि उसे परिणाम में सिर्फ 22 नंबर दिया गया। इसी प्रकार मनोज की काॅपी पर 98 अंक थे और रिजल्ट में मात्र 19 नंबर देकर फेल कर दिया गया। इसके साथ ही सोनिका देवी की काॅपी बदलने के प्रकरण से भी परीक्षा नियामक प्राधिकारी कार्यालय संदेह के दायरे में आ चुका है।
भ्रष्टाचार का एक नायाब उदाहरण और देखिए। 68500 सहायक अध्यापक भर्ती परीक्षा में जिन दो अभ्यर्थियों को परिणाम में सफल घोषित किया गया था उन्होंने शिक्षक भर्ती के लिए आॅनलाइन आवेदन ही नहीं किया था। यानी वे परीक्षा में भी शामिल होने के हकदार नहीं थे फिर भी उन्हें पास करके उन्हें जिला आवंटित कर दिया गया था। एक अन्य अभ्यर्थी फेल होने के बावजूद रिजल्ट में पास कर दिया गया, हैरत तो इस बात की है कि उसने भी नौकरी के लिए आवेदन फार्म नहीं भरा था।
गौरतलब है कि विगत 27 मई को 248 परीक्षा केंद्रों पर पहली बार लिखित परीक्षा को आयोजित किया गया था जिसमें 125745 अभ्यर्थियों में से 107908 (85.81 प्रतिशत) परीक्षा में उपस्थित थे। हाल ही में 13 अगस्त को परीक्षा परिणाम घोषित किया गया जिसमें 41556 अभ्यर्थी (38.52 या 39 प्रतिशत) उत्तीर्ण घोषित किए गए थे। 150 अंकों की परीक्षा में 67 (45 प्रतिशत) नंबर पाने वाले सामान्य व ओबीसी वर्ग के अभ्यर्थी पास हुए जबकि 60 अंक (40 प्रतिशत) अंक पर एससी/एसटी वर्ग के अभ्यर्थियों को सफल घोषित किया गया था।
फिलहाल इस मामले को लेकर सरकार की छवि पर सवाल उठ खडे़ हुए हैं। साथ ही इस मामले को कोर्ट में भी चुनौती दी जाने वाली है। दूसरी ओर जिन अभ्यर्थियों को नियुक्ति पत्र जारी नहीं किए गए हैं वे बेसिक शिक्षा परिषद के सम्बन्धित अधिकारियों पर घूसखोरी का आरोप लगा रहे हैं।
8 Comments
  1. Aaroninecy 3 months ago
    Reply

    wh0cd113475 Tadalafil

  2. Aaroninecy 3 months ago
    Reply

    wh0cd156835 metformin er 1000

  3. 《屍殺列車》的大叔紅到美妝界? Marie Claire (HK) Edition 有份出演《屍殺列車》電影中的大叔馬東錫實在太紅了! 就連韓國的美妝龍頭之一Etude House也要找他拍廣告! 眼見早前品牌發出的一段短片廣告中,除了有品牌一向的代言人Krystal之外

  4. 運動 2 months ago
    Reply

    CLINIQUE 倩碧線上購物官網。瀏覽Clinique倩碧官方網站,了解更多線上購物、護膚、彩粧、香氛及禮品詳情。通過過敏性測試,百分百不含香料。

  5. ~100 預防高危致癌的 HPV 16、18 型號 (可減低 70 患子宮頸癌的風險) ~100 減低引致生殖器官濕疣 (俗稱「椰菜花」) 的 HPV 6、11 型的感染 (可減低超過 90 患生殖器官濕疣的風險) HPV4合1子宮頸癌疫苗 Gardasil HPV病毒會感染人類的皮膚及黏膜,一般會透過性接觸及親密的皮膚接觸而受到感染,是一種男性與女性都可能感染的常見病毒。可感染身體各個部位的HPV超過100種,當中有部份的HPV類型可影響生殖器部位,導致生殖器疣(genital warts) 、子宮頸細胞異常(abnormal cervical cells) ,甚至子宮頸癌 (cervical cancer)。 4合1 HPV 子宮頸癌疫苗,覆蓋4種高危HPV病毒:6、 11、16及18型(約70的子宮頸癌由HPV16和HPV18病毒引致),有助預防子宮頸癌、外陰癌、陰道癌及生殖器官濕疣

  6. KIEHL`S 契爾氏 【眼部保養】特級保濕眼部防曬膏SPF30的商品介紹 KIEHL`S 契爾氏,眼部保養,特級保濕眼部防曬膏SPF30

  7. 黑桐果油 2 months ago
    Reply

    維持肌膚大量水分,造就柔嫩有彈性、晶瑩煥白的肌膚。 中性肌膚使用

  8. 大分子透明質酸 – 進發(國際)美容集團有限公司Chun Fat (International) Beauty Group Limited 大分子透明質酸 – 進發(國際)美容集團有限公司Chun Fat (International) Beauty Group Limited

Leave a Comment

Your email address will not be published.

You may also like