[gtranslate]
Country

बसपा विधायक विनय तिवारी पर कसता ईडी का शिकंजा

लखनऊ। बसपा के विधायक विनय शंकर तिवारी पर ईडी ने मामला दर्ज कर दिया है। बैंकों के साथ धोखाधड़ी के आरोपी विनय, उनकी पत्नी रीता तिवारी और उनके भाई तथा रिश्तेदारों के खिलाफ मनी लांड्रिंग का केस दर्ज किया गया है। इस मामले में ईडी ने जल्द से नोटिस जारी करके चिल्लूपार (गोरखपुर) के बसपा विधायक को पूछताछ के लिए बुलाया है। प्रवर्तन निदेशालय के लखनऊ जोन कार्यालय ने सीबीआई के केस को आधार बनाकर अपनी तरफ से भी मुकदमा दर्ज किया है।

सीबीआई ने 19 अक्टूबर 2020 को दो प्राइवेट कंपनियों मेसर्स ‘गंगोत्री इंटरप्राइजेज’ तथा मेसर्स ‘रायल एंपायर’ मार्केटिंग प्राइवेट लिमिटेड के साथ ही उनसे जुड़े निदेशकों विनय शंकर तिवारी पर मामला दर्ज किया था। सीबीआई ने पिछले वर्ष अक्टूबर 2020 में कंपनी के लखनऊ के कारपोरेट कार्यालय और नोएडा सेक्टर-72 स्थित कार्यालय पर छापा मारा था। सीबीआई को 20 बैंक खातों का पता चला है, इस बैंक से करोड़ों रुपए का लोन लिया गया था। इसी पर सीबीआई आरोपियों समेत बैंक में तत्कालीन समय में तैनात अफसरों से पूछताछ जारी हो चुकी है।

सीबीआई ने ‘बैंक आॅफ इंडिया’ के जोनल मैनेजर यादवेंद्र नारायण द्विवेदी की सूचना पर मामला दर्ज किया था। जोनल मैनेजर का आरोप था कि साल 2012 से 2016 के बीच में बैंकों से लिया लोन जानबूझकर नहीं चुकाया गया। मुख्य आरोपी विनय शंकर तिवारी पूर्व मंत्री और बाहुबली नेता हरिशंकर तिवारी के बेटे हैं। हरिशंकर तिवारी विधानसभा सीट चिल्लूपार से छह बार विधायक रहे हैं। विनय शंकर साल 2017 के चुनाव में पहली बार विधायक बने।

You may also like

MERA DDDD DDD DD