[gtranslate]
Country

‘आप’ में हुआ हरियाणा डेमोक्रेटिक फ्रंट का विलय

अन्ना आंदोलन से जन्मी आम आदमी पार्टी  पहले दिल्ली फिर पंजाब में अपनी सरकार बनाने के बाद अब उसकी निगाहें अन्य राज्यों पर है। खासकर दिल्ली से सटे हरियाणा में हाल फिलहाल पार्टी काफी सक्रिय नजर आ रही है। इस बीच पार्टी ने हरियाणा में अन्य राजनीतिक दलों के कई बड़े नेताओं सहित हरियाणा डेमोक्रेटिक फ्रंट का आप पार्टी में विलय करा लिया है।  इसके साथ ही हरियाणा डेमोक्रेटिक फ्रंट सुप्रीमो और पूर्व मंत्री निर्मल सिंह और उनकी बेटी चित्रा सरवारा ने आप पार्टी की सदस्यता ले ली है।  इन दोनों को आप के मुखिया अरविंद केजरीवाल ने आप पार्टी  की सदस्यता दिलाई है।

 

आप पार्टी में पूर्व मंत्री निर्मल सिंह और उनकी बेटी चित्रा सरवारा के शामिल होने पर सीएम केजरीवाल ने इनका स्वागत कर  ट्वीट करते हुए लिखा कि  चित्रा जी, निर्मल जी एवं हरियाणा डेमोक्रेटिक फ्रंट के सभी कार्यकर्ताओं का आम आदमी पार्टी परिवार में स्वागत है।  हरियाणा और देश की तरक्की के लिए हम सब मिलकर काम करेंगे।

इस मौके पर आप सांसद सुशील कुमार गुप्ता और हाल में आप में शामिल होने वाले हरियाणा के पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष अशोक तंवर भी मौजूद रहे।  सुशील गुप्ता ने कहा आप पार्टी में निर्मल सिंह और चित्रा के शामिल होने पर निश्चित रूप से पार्टी को मजबूती मिलेगी और हम सब साथ मिलकर हरियाणा के अंदर जाती धर्म की  राजनीति को समाप्त कर  काम की राजनीति को आगे बढ़ाएंगे। दिल्ली और पंजाब के तर्ज पर हरियाणा में भी बदलाव लाएंगे ।

 

कौन हैं निर्मल सिंह

 

आप पार्टी में शामिल होने वाले हरियाणा डेमोक्रेटिक फ्रंट के सुप्रीमो निर्मल सिंह हरियाणा सरकार में दो बार मंत्री भी रहे हैं।  इसके साथ ही निर्मल सिंह चार बार विधायक भी रहे हैं। इन्होंने साल 1982, 1991, 1996 और 2005 में नग्गल विधानसभा क्षेत्र से जीत हासिल की थी।

साल 2019 में टिकट न मिलने से निर्मल सिंह कांग्रेस पार्टी से खफा हो गए थे, इसके बाद इन्होंने  4 नवंबर 2020 को अपनी अलग पार्टी बनाई थी।  निर्मल सिंह हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा के करीबी माने जाते हैं।

 

टीएमसी छोड़ आप में शामिल हुए अशोक तंवर

 

इसके अलावा कांग्रेस की हरियाणा इकाई के पूर्व प्रमुख अशोक तंवर भी आम आदमी पार्टी में शामिल हो गए हैं।  उन्होंने ‘आप’ के राष्ट्रीय संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की मौजूदगी में पार्टी का दामन थामा। आप में शामिल होने के बाद अशोक तंवर ने कहा, ”जनप्रिय नेता श्री अरविंद केजरीवाल जी के कुशल नेतृत्व में जनहित में किए जा रहे कार्यों ने मुझे आम आदमी पार्टी में शामिल होने के लिए प्रेरित किया।  मैं जनता की आवाज उठाना जारी रखते हुए पार्टी नेतृत्व के विश्वास पर खरा उतरने का पूरा प्रयास करूंगा।

 


आप में शामिल हुए अशोक तंवर

 

गौरतलब है कि हरियाणा के सिरसा से सांसद रह चुके तंवर ने साल 2019 में कांग्रेस छोड़ दी थी।  वह हरियाणा प्रदेश कांग्रेस समिति (एचपीसीसी) के अध्यक्ष थे।  उन्होंने भारतीय युवा कांग्रेस और कांग्रेस की छात्र इकाई एनयूएसआई के अध्यक्ष पद पर भी सेवाएं दी थी।  बाद में तंवर ने ममता बनर्जी की पार्टी तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) का दामन थाम लिया था।  अब तंवर आप में शामिल हो गए हैं।

राजनीतिक विश्लेषकों का कहना है कि अशोक तंवर का जुड़ना ‘आप’ के लिए एक बड़ी सफलता है, क्योंकि पार्टी 2024 में हरियाणा में प्रस्तावित विधानसभा चुनावों के मद्देनजर राज्य में अपना जनाधार बढ़ाने की कोशिशों में जुटी है।

पंजाब विधानसभा में ‘आप’ की शानदार जीत के बाद हरियाणा में कांग्रेस, बीजेपी और अन्य दलों के कई स्थानीय नेताओं ने केजरीवाल के नेतृत्व वाली पार्टी का दामन थाम लिया है। पंजाब में आप की जीत के बाद कई लोग आप में शामिल हुए हैं।  भारतीय पुलिस सेवा (आईपीएस) के पूर्व अधिकारी और बेंगलुरु निवासी बी भास्कर राव आम आदमी पार्टी  में शामिल हो गए हैं।  कर्नाटक कैडर के 1990 बैच के राव ने 32 साल तक पुलिस बल में सेवा दी है। आप के वरिष्ठ नेता और दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने राव का पार्टी में स्वागत किया है।

You may also like

MERA DDDD DDD DD