[gtranslate]
Country

दिल्ली सरकार के पास वेतन देने के लिए नहीं पैसे, विज्ञापनों पर खर्च प्रतिदिन 46 लाख

दिल्ली सरकार ने कोरोना काल में अपनी हालत खस्ता बताते हुए केंद्र सरकार से आर्थिक सहायता की मांग की थी। तब प्रदेश के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने बकायदा प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए केंद्र सरकार से ₹5000 करोड़ रुपए की आर्थिक सहायता की मांग की थी। इसके साथ ही दिल्ली के स्कूलों के अध्यापको को 3 महीने का वेतन नहीं मिला । जिसके चलते यह न केवल न्यायालय की चौखट पर पहुंचे । बल्कि अपने वेतन की मांग को लेकर धरनारत रहे।

जबकि दूसरी तरफ दिल्ली की आम आदमी पार्टी के पास आर्थिक कमी होने के बावजूद विज्ञापनों में मोटी रकम खर्च करने का आरोप लगाया गया है । यह आरोप दिल्ली के पूर्व मुख्यमंत्री रहे मदन लाल खुराना के बेटे और भाजपा के प्रवक्ता हरीश खुराना ने लगाया है। हरीश खुराना ने सूचना अधिकार अधिनियम के तहत मिले जवाबों के आधार पर अब दिल्ली सरकार की घेराबंदी कर दी है । जिसमें उन्होंने कहा है कि दिल्ली सरकार के पास वेतन देने के लिए पैसे नहीं है लेकिन वह विज्ञापनों पर हर रोज 46 लाख रुपए खर्च कर रही है। इस मामले को लेकर फिलहाल दिल्ली सरकार घिरती नजर आ रही है।

भाजपा के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष और सांसद तिवारी ने भी इस मामले को लेकर आम आदमी पार्टी की सरकार पर सवालिया निशान लगा दिए हैं। बीजेपी सांसद और भाजपा के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से कोरोना वायरस से जंग लड़ने की तैयारियों को लेकर सवाल किया है। मनोज तिवारी ने सीएम केजरीवाल से यह सवाल किया है कि उन्होंने 22 मार्च को जनता कर्फ़्यू से लेकर 29 मई तक टेलीविजन, प्रिंट और इंटरनेट विज्ञापनों पर कितने रुपये खर्च कर दिए ?

भाजपा प्रवक्ता हरीश खुराना ने इस मामले में एक ट्वीट करते हुए कहा कि सिसोदिया जी आपके पास सैलरी देने के लिए पैसे नहीं है । लेकिन अरविंद केजरीवाल को चमकाने के लिए विज्ञापन पर 48 करोड़ रुपये 120 दिन में, के लिए पैसे है। मेरी आरटीआई से खुलासा हुआ है पिछले 16 महीनो में 250 करोड़ विज्ञापन पर केजरीवाल ने ख़र्च किए है। यानी रोज़ तक़रीबन 46 लाख रुपए।

याद रहे कि हरीश खुराना दिल्ली की राजनीति में कोई अनजाना या नया नाम नहीं है। राजनीति के गुर उन्हें विरासत में मिले हैं। वह दिल्ली में भाजपा के पहले मुख्यमंत्री स्वर्गीय मदनलाल खुराना के बेटे हैं। चार भाई-बहनों में सबसे छोटे और पेशे से व्यवसायी हरीश इस वक्त दिल्ली बीजेपी के प्रवक्ता भी हैं। वह पिछले 9 सालों से दिल्ली बीजेपी के मीडिया विभाग से जुड़े रहे हैं और अलग-अलग पदों पर रहते हुए मीडिया को हैंडल कर चुके हैं। इससे पहले वह छात्र जीवन में भी एबीवीपी की सक्रिय राजनीति से जुड़े रहे हैं।

बीजेपी नेता हरीश खुराना समय – समय पर आम आदमी पार्टी की घेराबंदी करते रहें हैं। गत जनवरी माह में उन्होंने एक तस्वीर शेयर की थी। उन्होंने तस्वीर शेयर करते हुए ट्वीट किया था कि अरविन्द केजरीवाल की शिक्षा क्रांति की पोल खोलते हुए कहा कि तुम कह रहे हो की दिल्ली में 16 लाख बच्चे पढ़ते है सरकारी स्कूल में। जबकि सच्चाई यह है दिल्ली सरकार के स्कूल में 12,64,959 बच्चे पढ़ते है. जो पिछले साल 14,91,280 थे. दिल्ली को बताओगे 2,26,321 बच्चे कैसे कम जो गए पिछले साल के मुक़ाबले।

You may also like

MERA DDDD DDD DD