[gtranslate]
Country

गैर हिन्दुओ का प्रवेश वर्जित, देहरादून के 150 से अधिक मंदिरों में लगे पोस्टर

उत्तराखंड में देहरादून के 150 से अधिक मंदिरों में एक बैनर लगाया गया है. इस बैनर में लिखा है कि मंदिर के परिसर में गैर हिंदुओं का प्रवेश प्रतिबंधित है. ये बैनर हिंदू युवा वाहिनी की ओर से लगाए गए हैं. संगठन के सदस्यों का दावा है कि ऐसे बैनर पूरे उत्तराखंड के मंदिरों में लगाए जाएंगे. फिलहाल ये बैनर देहरादून के चकराता रोड, प्रेम नगर और सुद्दोवाला में देखने को मिले हैं.

इससे पहले  ऐसा ही  मामला गाजियाबाद के डासना में भी देखने को मिला था.| इसका खुलासा तब हुआ था  जब  हाल ही में एक मुस्लिम किशोर को मंदिर में पानी पीने पर पीटने का मामला सामने आया था| . इस पर मंदिर के महंत यति नरसिम्हानंद सरस्वती ने कहा था कि ‘मंदिर के बाहर लगे बोर्ड पर साफ लिखा है कि मुस्लिमों का मंदिर में आना मना है. वह मंदिर को अपवित्र करने के लिए आया था.’ इस मामले में पुलिस ने आरोपियों को गिरफ्तार किया था.

इस मामले को  लेकर  हिन्दू युवा वाहिनी  ने उत्तराखंड में ये पोस्टर लगाने शुरू कर दिए हैं। उन्होंने ये पोस्टर देहरादून शहर के आस पास इलाके में लगाए हैं | हिंदू युवा वाहिनी के प्रदेश महासचिव जीतू रंधावा कहना हैं|  की  उन्होंने यह कदम यति नरसिंहानंद सरस्वती का समर्थन करने के लिए उठाया गया है। दूसरी तरफ पुलिस ने भी  बैनर में लिखे मोबाइल नंबर धारक पर मुकदमा दर्ज किया है।तथा पुलिस ने मंदिर में लगे सभी बैनर को हटा दिया हैं और हिंदू युवा वाहिनी के प्रदेश महासचिव जीतू रंधावा के खिलाफ केस दर्ज कर लिया गया हैं |

वही डासना प्रकरण के बाद धौलाना से बसपा विधायक असलम चौधरी ने कहा था कि ये मंदिर उनके पुरखों की जमीन पर बना है और वो मंदिर जाएंगे, पानी पिएंगे और इस तरह के पोस्टरों को हटा देंगे. हालांकि उन्होंने दूसरे बयान में कहा कि ये कानून व्यवस्था का मामला है और पुलिस इसमें अपना काम करेगी.| हिंदू युवा वाहिनी के प्रदेश महासचिव जीतू रंधावा  का कहना है कि असलम की धमकी के विरोध में हम ये पोस्टर उत्तराखंड के हर मंदिर में लगाएंगे. मंदिर उन लोगों के लिए है जो सनातन धर्म में भरोसा रखते हैं

You may also like

MERA DDDD DDD DD