[gtranslate]
Country

कोरोना संकट के बीच बढ़ रहा अपराध, नेत्रहीन के साथ हुई अमानवीयता

कोरोना संकट के बीच बढ़ रहा अपराध, नेत्रहीन के साथ हुई अमानवीयता

कोरोना की रोकथाम के लिए लॉकडाउन लगाया गया है। लॉकडाउन का यह दूसरा चरण है। लेकिन कोरोना पर ब्रेक लगाने वाला यह लॉकडाउन एक महिला को न भूलने वाली पीड़ा दे गया। एक 53 साल की महिला बैंक अधिकारी अपने घर में अकेली रह रही थी जिसे हवस का शिकार बनाया गया। यह दिल दहला देने वाली घटना मध्‍य प्रदेश की राजधानी भोपाल की है।

राजस्थान में फंसा है महिला का परिवार

जिस वक्त यह घटना हुई उस समय महिला अपने घर पर अकेली थी। महिला भोपाल के शाहपुरा की निवासी है। साथ ही वो दृष्‍टिबाधित भी। बताया जा रहा है कि लॉकडाउन के चलते 23 मार्च से ही महिला का पति और परिवार राजस्थान में फंसा हुआ है। इस मामले की जानकारी देते हुए भोपाल के एएसपी संजय साहू ने बताया कि पुलिस की ओर से घटना स्थल का दौरा किया गया है। साथ ही आईपीसी की संबंधित धाराओं के तहत मामला दर्ज कर लिया गया है। घटना को अंजाम देने वाले युवक की तलाश की जा रही है।

पुलिस ने जानकारी दी कि महिला अपने घर में अकेली ही थी। देर रात लगभग 3.30 बजे एक अज्ञात युवक महिला के घर की बालकनी को लांघकर अंदर आया और महिला को धमकी देकर उसके साथ बलात्कार किया। महिला नेत्रहीन होने के कारण आरोपी को नहीं पहचान पाई। इस हादसे के बाद महिला ने पुलिस थाने में जाकर पूरी घटना बताई। शिकायत के बाद स्पेशल टीम ने मौके पर पहुंचकर फिंगरप्रिंट समेत तमाम सबूत भी जुटाए हैं। पुलिस आरोपी की तलाश में लग गई है।

पुलिस को अभी कुछ लोगों पर शक है और उनसे पूछताछ भी जारी है। जिस तरह से इस घटना को अंजाम दिया गया है। उससे पुलिस को संदेह है कि आरोपी महिला के घर के आस-पास का भी हो सकता है। भोपाल के शाहपुर पुलिस थाने के प्रभारी निरीक्षक चन्द्रभान पटेल ने बताया कि दृष्टिहीन पीड़ित महिला की शिकायत पर पुलिस ने अज्ञात आरोपी के खिलाफ आईपीसी की संबंधित धाराओं में मामला दर्ज कर लिया है। पुलिस की ओर से फिलहाल आरोपी की तलाश जारी है।

You may also like

MERA DDDD DDD DD