[gtranslate]
Country

लॉकडाउन के एक साल बाद फिर कोरोना की दहशत

 देशभर में कोरोना ने एक बार फिर अपनी रफ्तार बढ़ा दी है। बीते दो सप्ताह से कोरोना के मामलों में लगातार इजाफा देखने को मिल रहा है। आज 22 मार्च को  46 हजार 951 नए मामले सामने आए है। पिछले साल आज ही के दिन यानी 22 मार्च को पीएम नरेंद्र मोदी के आह्वान पर जनता कर्फ्यू लगा था । उस दौर की बात करें तो भारत में तब कोरोना ने दस्तक दी ही थी और 21 मार्च, 2020 तक 360 केस सामने आए थे। इनमें भी 41 मामले विदेशियों के थे। उसी दौर में पीएम नरेंद्र मोदी ने जनता कर्फ्यू की अपील की थी, जिसे जनता ने पूरा सहयोग दिया था। ठीक एक साल बाद कोरोना के बढ़ते संक्रमण के चलते  देशभर में एक बार फिर लॉकडाउन  करने के संकेत मिल रहे हैं। देश के राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में कोरोना के बढ़ते संक्रमण पर रोक लगाने के लिए  दिल्ली सरकार ने अहम फैसला लिया है। दिल्ली में आज 22 मार्च से से लोग सुबह 9 से रात 9 बजे तक कोराना का टीका लगवा सकेंगे। इसके लिए सभी अस्पतालों में तैयारी पूरी हो गई है। टीकाकरण को को बढ़ाने के लिए दिल्ली सरकार ने यह कदम उठाया है। स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक, सभी सरकारी अस्पतालों में टीकाकरण केंद्र बढ़ाए जा रहे हैं। केंद्रों की संख्या को बढ़ाकर एक हजार तक किया जाएगा।

                                                                   रात नौ बजे तक लगेगी वैक्सीन 

प्रत्येक अस्पताल को कम से कम छह केंद्रों पर टीकाकरण करने को कहा गया है। आज से से रात 9 बजे तक वैक्सीन लगाई जाएगी। दोपहर 3 बजे तक ऑनलाइन पंजीकरण वालों को टीका लगेगा। इसके बाद वैक्सीनेशन सेंटर पर आकर पंजीकरण कराने वालों का टीकाकरण होगा।

कोविड नियमों पर  सख्त सरकार

उधर, दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने कहा है कि दिल्ली में कोविड से बचाव के नियमों का पालन नहीं करने वालों के खिलाफ सख्ती बरती जा रही है। पुलिस व प्रशासन को निर्देश दिए गए हैं कि लापरवाही करने वालों के चालान करें और कोविड प्रोटोकॉल का पालन कराना भी सुनिश्चित कराया जाए। जैन ने कहा कि संक्रमितों की पहचान के लिए रिकॉर्ड स्तर पर जांच की जा रही है। कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग को भी काफी बढ़ाया गया है।  जैन ने लोगों से होली पर सावधानी बरतने की अपील की है। उन्होंने कहा है कि पिछले साल भी त्योहारों के समय संक्रमण के मामले बढ़ गए थे। उसे देखते हुए लोगों को सावधानी बरतनी होगी। स्वास्थ्य मंत्री ने उम्मीद जताई है कि आने वाले दिनों में कोरोना के मामलों में कमी आएगी।

तिहाड़ में कैदियों का टीकाकरण शुरू 

तिहाड़ जेल में कैदियों का टीकाकरण शुरू कर दिया गया है। अब तक 25 कैदियों को टीके लगाए गए हैं। जेल अधिकारियों के मुताबिक पहले चरण में 60 साल से ऊपर और गंभीर बीमारी से पीड़ित 40 से 51 साल के बीच के कैदियों का टीकाकरण किया जा रहा है। जल्द ही जेल परिसर में ही टीका केंद्र खोला जाएगा। जेल महानिदेशक संदीप गोयल ने बताया कि जेल में कोई भी कैदी कोरोना पीड़ित नहीं है। ऐसे में अब टीकाकरण पर जोर दिया जा रहा है। ज्यादा से ज्यादा टीकाकरण के लिए परिसर में ही केंद्र खोला जा रहा है। इसके अलावा टीकाकरण को लेकर अगर किसी कैदी के मन में कोई चिंता है तो उसे दूर किया जा रहा है। इससे पहले जेल कर्मियों का टीकाकरण किया गया है और फिलहाल जेल का कोई भी कर्मचारी संक्रमित नहीं है।

हिंदूराव अस्पताल के डॉक्टरों ने वापस ली हड़ताल 

हिंदूराव अस्पताल में आज 22 मार्च से शुरू होने वाली अनिश्चितकालीन हड़ताल डॉक्टरों ने वापस ले ली है। नगर निगम चिकित्सक संघ ने उत्तरी निगम के कमिश्नर को पत्र लिखकर इसकी सूचना दी है। एसोसिएशन के अध्यक्ष डॉक्टर आर आर गौतम ने बताया कि राजधानी में कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए यह फैसला लिया गया है। डॉक्टर गौतम ने बताया कि निगम की ओर से उन्हें आश्वासन दिया गया है कि पिछले चार महीने का बकाया वेतन एक सप्ताह के भीतर उन्हें दे दिया जाएगा। इससे पहले वेतन न मिलने के विरोध में  डॉक्टरों के संगठन ने घोषणा की थी कि 22 मार्च से वे अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जाएंगे।

उत्तरी निगम के अस्पतालों में डॉक्टरों को देरी से वेतन मिलता है। रेजिडेंट डॉक्टरों का तीन महीने और वरिष्ठ डॉक्टरों का चार महीनों के वेतन बकाया है। सालभर में तीन बार डॉक्टर वेतन न मिलने के विरोध में हड़ताल कर चुके हैं।

You may also like

MERA DDDD DDD DD