[gtranslate]
Country

कोरोना वायरस से इस साल भी निजात नहीं मिलने वाली: WHO

देश में कोरोना वायरस के  मामलों में उतार-चढ़ाव का सिलसिला जारी है। बीते सात दिनों से देश में कोरोना वायरस के एक्टिव केसों  में लगातार बढ़ोतरी हो रही है। इससे कोरोना संक्रमण की रफ्तार तेज हुई है। इससे एक बार फिर से कोरोना से लोगों को डर लगने लगा है। दिक्क्त यह है कि  कोरोना वायरस से इस साल भी निजात नहीं मिलने वाली है। हालांकि, वैक्सीन से संक्रमण पर जरूर  लगाम लग सकती है। विश्व स्वास्थ्य संगठन ने  ताजा बयान में कहा  है कि महामारी का संकट इस साल के अंत तक भी खत्म नहीं होगा। डब्ल्यूएचओ (WHO) के वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि इस साल के अंत तक कोरोना खत्म हो जाएगा, सही नहीं है। यह एकदम अपरिपक्वता वाली बात होगी, लेकिन वैक्सीन के आने सें संक्रमित और मरने वालों की सख्या में कमी जरूर  होगी।

डब्ल्यूएचओ के इमर्जेंसीज प्रोग्राम के डायरेक्टर डॉ.माइकल रेयान ने बताया कि दुनियाभर के देशों को अभी कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम पर ध्यान देना चाहिए। मीडिया को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि अगर हम समझदार हैं, तो मिलकर साल के अंत तक कोरोना के अस्पताल में भर्ती कराये जाने वाले मरीजों, मौतों और इस महामारी से जुड़ी त्रासदी को खत्म करने में कामयाब हो सकते हैं।

देश में कोरोना के ज्यादातर मामलों में महाराष्ट्र और केरल समेत कई राज्यों में  तेजी से इजाफा हो रहा है। इसी कड़ी में देश की राजधानी दिल्ली में कोरोना की संक्रमण दर 0.34 फीसद से बढ़कर 0.44 फीसद हो गई है। इस वजह से पिछले दिनों के मुकाबले कम सैंपल की जांच होने के बावजूद बीते दिन यानी  कल एक मार्च को  175 नए मामले सामने आए । वहीं 105 मरीज ठीक हुए। नए मामलों की तुलना में ठीक होने वाले मरीजों की संख्या कम होने के कारण सक्रिय मरीजों की संख्या 1400 से ज्यादा हो गई है। इस वजह से अस्पतालों में भी मरीजों की संख्या थोड़ी बढ़ी है। पिछले 24 घंटे में कोरोना से एक मरीज की मौत हो गई।

स्वास्थ्य विभाग के अनुसार दिल्ली में कोरोना के अब तक कुल छह लाख 39 हजार 464 मामले आ चुके हैं। जिसमें छह लाख 27 हजार 149 मरीज ठीक हो चुके हैं। इससे मरीजों के ठीक होने की दर 98.07 फीसद है। वहीं मृतकों की कुल संख्या 10,911 हो गई है। इससे मृत्यु दर 1.71 फीसद है। सक्रिय मरीजों की संख्या 1335 से बढ़कर 1404 हो गई है। इनमें से 489 मरीज अस्पतालों में व एक मरीज कोविड केयर सेंटर में भर्ती है।

You may also like

MERA DDDD DDD DD