[gtranslate]
Country

तब्लीगी जमात से जुड़े 400 लोगों में कोरोना पाए जाने से मची सनसनी

तब्लीगी जमात से जुड़े 400 लोगों में कोरोना पाए जाने से मची सनसनी

कोरोना का कहर देश में दिनों दिन पैर पसार रहा है। देश में कोरोना वायरस के मामलों में लगातार इजाफा होने के चलते स्थिति अब चिंताजनक होने लगी है। संक्रमितों का आंकड़ा 2000 के करीब पहुंच गया है। चिंताजनक बात ये है कि मरने वालों की संख्या अब बढ़कर 50 से अधिक हो गई है।

कोेविड -19 के मामलों में बढ़ोतरी के लिहाज से एक दिन में अब तक की सबसे अधिक तेजी दर्ज की गई है। गुरूवार को देशभर से 328 मामले दर्ज किए गए। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने गुरूवार को इस बाबत कई खुलासे किए। लव अग्रवाल ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में कोरोना से जुड़ी जानकारी दी। स्वास्थ्य मंत्रालय के ताजा आंकड़ों के मुताबिक, 151 लोग वायरस के संक्रमण से ठीक हो चुके हैं।

लव अग्रवाल के अनुसार, भारत में अब तक मिले कुल 1,965 संक्रमित लोगों में 400 निजामुद्दीन मरकज में तब्लीगी जमात के कार्यक्रम से जुड़े हुए हैं। उन्होंने बताया कि देश में जमात से जुड़े अन्य लोगों की तलाश जारी है। लव अग्रवाल की माने तो अभी तक तबलीगी जमात से जुड़े लगभग 9000 लोगों की पहचान कर क्वारंटाइन किया जा चुका है। इनमें से 400 लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने इस दौरान राज्यों के हिसाब से आंकड़े भी दिए।

जिसमें उन्होंने तब्लीगी जमात से जुड़े लोगों के कोरोना संक्रमण का आंकड़ा पेश किया। इसके अनुसार तमिलनाडु से 173, राजस्थान से 11, अंडमान निकोबार से 9, दिल्ली से 47, तेलंगाना से 33, आंध्र प्रदेश से 67, असम से 16, जम्मू-कश्मीर से 22 और पुदुचेरी से दो पॉजिटिव केस मिले हैं। यह सभी मामले तबलीगी जमात से संपर्क में आने पर हुए है।

इससे पहले गुरूवार दोपहर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों से जांच, पता लगाना, आइसोलेट और क्वारंटाइन को प्राथमिकत देने की अपील की। उन्होंने लॉकडाउन के निर्णय का समर्थन करने वाली राज्य सरकारों को धन्यवाद दिया तथा भविष्य में भी सहयोग की अपील की। इस दौरान प्रधानमंत्री नरेद्र मोदी ने सभी मुख्यमंत्रियों से लॉकडाउन के बाद लोगों को एक साथ बाहर आने से रोकने के लिए एक समान रणनीति बनाने को कहा।

You may also like