[gtranslate]
Country

‘ब्लैक विम’ के विज्ञापन पर विवाद

भारत में विज्ञापनों पर विवाद कोई नई बात नहीं है। इसी क्रम में अब विवादित विज्ञापनों की लिस्ट में एक नया विज्ञापन भी शामिल हो गया है। यह विज्ञापन है हिंदुस्तान यूनिलीवर लिमिटेड के विम प्रोडक्ट का।

हिंदुस्तान यूनिलीवर के सबसे सफल उत्पाद के रूप में पहचाना जाने वाला विम डिश वाश इस समय सुर्खियों अपने एक विज्ञापन को लेकर सुर्खियों में है। हाल ही में विम ने अपने डिशवॉशिंग लिक्विड की बोतल का रंग बदलकर उसे ब्लैक विम के नाम से बाजार में पेश किया है। कई लोगों ने इस पर विम को ट्रोल करना शुरू कर दिया है और पूछा है कि पुरुषों और महिलाओं के बीच समानता का संदेश देते हुए पुरुषों के लिए एक अलग पैक बनाने की आवश्यकता क्यों है ? लेकिन क्या वाकई विम इस नए ब्लैक विम को इसी वजह से ला रहा है या इसके पीछे कोई और वजह है?

‘ब्लैक विम’ विज्ञापन में क्या है?

मॉडल मिलिंद सोमन और एमटीवी इंडिया ने इंस्टाग्राम पर विम लिक्विड का प्रचार करते हुए एक वीडियो साझा किया है। विम ब्लैक के इस विज्ञापन को एक जिम में शूट किया गया है। विज्ञापन में एक लड़का व्यायाम करने वाली एक लड़की से शेखी बघारता है कि वह थक गया है क्योंकि उसने शाम को बर्तन धोने में अपनी माँ की मदद की थी। तभी विज्ञापन में एंट्री होती है एक्टर और मॉडल मिलिंद सोमन की। वह शेखी बघारने के लिए युवक की तारीफ करते हुए उसे ‘विम ब्लैक’ की पेशकश करते हैं और सलाह देते है, “विम ब्लैक फॉर मेन, इजीयर टू क्लीन, मोर टू ब्रैग” इस वीडियो में मिलिंद सोमन को बोलते हुए देखा जा सकता है, अब पुरुषों के लिए भी बर्तन धोना आसान हो जाएगा। कई लोगों ने इस वीडियो पर कमेंट कर विम को ट्रोल करना शुरू कर दिया है। कुछ ने सोमन से यह भी पूछा है कि ऐसे सेक्सिस्ट विज्ञापन में काम करने की क्या जरूरत है?

यह भी पढ़ें : Sensodyne के विज्ञापन पर क्यों लगी रोक ?

विम ने सफाई देते हुए क्या कहा

इस बीच विज्ञापन पर प्रतिक्रिया देखने के बाद विम ने खुद स्पष्ट किया कि “हम ब्लैक पैक्स के बारे में गंभीर नहीं हैं, लेकिन हम होमवर्क पार्टनरशिप के बारे में बहुत गंभीर हैं!” एक अन्य पोस्ट में विम ने फिर से यह बात कहने की कोशिश की कि घर का काम भी पुरुषों का काम है और वे इसे कर सकते हैं। इसके लिए विम ने सभी पुरुषों को एक पत्र समर्पित किया था।

सभी पुरुषों को एक पत्र

“प्रिय पुरुषों, हम आपको एक बात बताना भूल गए कि केवल बोतल अलग है, अंदर का लिक्विड नहीं। अगर बर्तन साफ करना सबके लिए एक जैसा है तो क्या लिक्विड एक जैसा नहीं होना चाहिए? यदि आप अब सोच रहे हैं कि आने वाले नए साल में कौन से संकल्प लेने हैं, तो सुनिश्चित करें कि आप अपना काम स्वयं करने पर विचार करें। जब आपने अपना काम खुद कर लिया है तो डींगे मारने का कोई सवाल ही नहीं है।

यह भी पढ़ें : शराब कंपनियों को ‘सरोगेट विज्ञापन’ पर सरकार का नोटिस

यह पहली बार नहीं है जब विम ने संदेश दिया है कि घर का काम अकेले महिलाओं का काम नहीं है। 2020 में इसके ‘व्हाट ए प्लेयर’ विज्ञापन में क्रिकेटर वीरेंद्र सहवाग को बर्तन धोते हुए दिखाया गया था, जबकि 2021 में विम ने टैगलाइन के साथ कई खूबसूरत विज्ञापन बनाए, ‘नजरिया बदलो, देखो बर्तनों से आगे’। विज्ञापनों में से एक में एक पुरुष और एक महिला को उनकी शादी से पहले डेटिंग करते दिखाया गया था। फिर एक बातचीत दिखाई गई कि किस तरह बर्तन धोने से लेकर बाकी सभी कामों में महिला और पुरुष बराबर होते हैं।

You may also like

MERA DDDD DDD DD