[gtranslate]
Country

सीबीएसई बोर्ड ने परीक्षा फीस बढ़ाने को लेकर दी सफाई, कहा 5 साल बाद बढ़ाई

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड ने कक्षा 10वीं और 12वीं के छात्रों बोर्ड परीक्षा फीस बढ़ाने के मामले में सफाई दी है। बोर्ड ने नोटिफकेशन जारी कर कहा है कि यह फीस सिर्फ दिल्ली के लोगेां के लिए नहीं बढ़ाई गई बल्कि देश इससे बाहर के छात्रों के लिए भी बढ़ाई गई है। बोर्ड ने बताया कि यह फीस बढ़ातरी पांच के साल के गैप के बाद की गई है जो कि सभी कैटेगरी के छात्रों लिए है।
एससी एसी और जनरल कैटेगरी के विवाद पर बोर्ड ने कहा है कि पहले एससी एसटी के छात्रों को 350 रुपए फीस देनी पड़ती थी जिसे अब 1500 रुपए कर दिया गया है। वहीं सामान्य वर्ग के छात्रों को 750 रुपए पहले देने पड़ते और अब उन्हें 1500 रुपए देने पड़ेंंगे। बोर्ड ने बताया कि दिव्यांगों के लिए कोई भी फीस नहीं लगाई गई।
एससी एसटी छात्रों के लिए अब 50 रुपये से बढ़कार सीधे 1200  रुपए का शुल्क जमा कराना होगा, जबकि सामान्य वर्ग के छात्रों को 1500 रुपए जमा कराना होगा। समाचार एजेंसी के अनुसार, सीबीएसई ने सामान्य वर्ग के छात्रों की फीस में दोगुनी की वृद्धि की है।
इससे एक दिन पहले सीबीएसई ने कक्षा IX और XI की फीस बढ़ाई थी।  केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) ने नौवीं और 11वीं के छात्रों का पंजीकरण शुल्क दोगुना कर चुका है। अब पंजीकरण के लिए दोनों कक्षाओं के छात्रों को पांच विषय के लिए कुल 1500 रुपये चुकाने पड़ेंगे। पिछले वर्ष तक दोनों कक्षाओं के विद्यार्थियों को पंजीकरण के लिए कुल 750 रुपये का भुगतान करना पड़ता था। साथ ही इस बार विलंब शुल्क के साथ ही पंजीकरण कराने की प्रक्रिया को भी दोगुने तक महंगा कर दिया है।
दिल्ली सरकार का अपना कोई शैक्षणिक बोर्ड नहीं है। निजी समेत सभी सरकारी स्कूल सीबीएसई से संबद्ध हैं। सीबीएसई ने वार्षिक पंजीकरण की प्रक्रिया शुरू कर दी है। दोनों कक्षाओं के छात्रों के लिए पंजीकरण की प्रक्रिया आठ अगस्त से चालू कर दी गई है, जिसके तहत दोनों कक्षाओं के छात्र*15 अक्तूबर तक ऑनलाइन पंजीकरण करा सकेंगे। सीबीएसई ने जारी निर्देश में निर्देश में कहा है कि 31 अक्तूबर तक क्षेत्रीय कार्यालयों में भी पंजीकरण कराने की सुविधा दी जा रही है।

You may also like

MERA DDDD DDD DD