[gtranslate]
Country

अस्थाना तो अपना आदमी है

केंद्रीय जांच एजेंसी सीबीआई के शीर्ष में मचा घमासान थमने का नाम नहीं ले रहा है। वर्चस्व की जंग को लेकर सीबीआई निदेशक आलोक वर्मा और विशेष निदेशक राकेश अस्थाना के बीच चल रही रस्साकशी ने इस प्रमुख जांच एजेंसी की विश्वसनीयता को पूरी तरह समाप्त कर डाला है। आलोक वर्मा को जबरन छुट्टी में भेजे जाने के बाद अंतरिम निदेशक बनाए गए नागेश्वर राव ने आनन-फानन में राकेश अस्थाना भ्रष्टाचार मामले की जांच कर रहे डिप्टी एसपी अजय कुमार बस्सी को न केवल जांच से अलग कर डाला, बल्कि उन्हें पोर्ट ब्लेयर भेजने का आदेश भी जारी कर दिया। बस्सी ने अपने ट्रांसफर को सीधे उच्चतम न्यायालय में चुनौती देते हुए राकेश अस्थाना के खिलाफ गंभीर सबूत होने की बात कही है। बस्सी के वकील सुनील फर्नांडीस ने मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई, न्यायमूर्ति यूयू ललित और न्यायमूर्ति केएम जोसेफ की खंडपीठ से अनुरोध किया है कि उनकी इस दरख्वास्त को तत्काल सुना जाए। बस्सी ने अपनी याचिका में कुछेक फोन रिकॉर्डिंग का जिक्र करते हुए कोर्ट को कहा है कि एक बिचौलिया इन रिकॉर्डिंग में ‘अस्थाना तो अपना आदमी है’ कहते सुना गया है। बस्सी ने आशंका जताई है कि सीबीआई कस्टडी में रखी गई इन ऑडियो रिकॉर्डिंग के साथ छेड़छाड़ की जा सकती है। अपनी याचिका में बस्सी ने कहा है कि ‘सीबीआई के विशेष निदेशक राकेश अस्थाना ने सोमेश प्रसाद और मनोज प्रसाद के संग मिलकर करोड़ों का भ्रष्टाचार किया है।’ बस्सी ने इस पूरे मामले में रॉ के विशेष निदेशक सामंत गोयल की पूरी भूमिका पर भी सवाल उठाए हैं। उन्होंने कोर्ट को जानकारी दी है कि 16-10-2018 को सीबीआई द्वारा मनोज प्रसाद की गिरफ्तारी के तुरंत बाद उसके भाई सोमेश प्रसाद ने सामंत गोयल से फोन पर बात की। सामंत गोयल ने इसके तुरंत बाद राकेश अस्थाना को फोन किया। यह सारे साक्ष्य सीबीआई टीम ने कॉल डिटेल्स के जरिए जुटाए हैं। उच्चतम न्यायालय शुक्रवार को इस मामले की सुनवाई कर सकता है।
इस बीच मुख्य न्यायाधीश की अध्यक्षता वाली पीठ ने इस मामले से जुड़े व्यापारी सतीश साना की याचिका पर हैदराबाद पुलिस को निर्देश दिया है कि वह सतीश साना को समुचित सुरक्षा उपलबध कराए।

You may also like

MERA DDDD DDD DD