Country

CAA का अनोखा विरोध, पुरखों के कब्र पर जाकर लोग मांग रहे हैं दस्तावेज़

CAA का अनोखा विरोध, पुरखों के कब्र पर जाकर लोग मांग रहे हैं दस्तावेज़

देश में जगह-जगह नागरिकता संशोधन कानून को लेकर विरोध-प्रदर्शन हो रहे हैं। दिल्ली का शाहीन बाग एक महीने से सीएए विरोध का प्रतीक बना हुआ है। वहीं प्रयागराज में कांग्रेस नेताओं ने विरोध का एक नया तरीका अपनाया है। यहां कांग्रेस नेता अपने पुरखों के कब्र पर जाकर रो रहें हैें और उनसे नागरिकता से जुड़े दस्तावेज़ मांग रहे हैं।

हसीब अहमद नामक एक कांग्रेस नेता ने यह अनोखा विरोध का नया रास्ता इजाद किया है। हसीब गुरूवार को अपने पुरखों के कब्र पर गए और रो-रो कर अपने भारतीय होने का सबूत मांगने लगे। हसीब अहमद ने कहा, “हमारे पास दस्तावेज नहीं हैं। लेकिन हम भारत में पीढ़ियों से रह रहे हैं। हमने अपने पूर्वजों से कहा कि इस बात का प्रमाण दें कि हम इस देश के नागरिक हैं। हमने सरकार से मांग की है कि अगर हमें डिटेंशन कैंप में भेजा जाएगा तो हमारे पुरखों के अवशेष भी वहां रखे जाएं।”

उत्तर प्रदेश के कई शहरो में सीएए और एनआरसी को लेकर विरोध प्रदर्शन चल रहा है। गुरुवार को वाराणसी में कई महिलाओं ने इस कानून के खिलाफ प्रदर्शन किया। कुछ ही दिन पहले लखनऊ के घंटाघर में भी महिलाएं धरने पर बैठी थीं जिसे पुलिस ने जबरन हटा दिया था। इतना ही नहीं उनसे कंबल भी छिन लिए थे।

https://twitter.com/MirchiSayema/status/1219973510799351809

दूसरी तरफ देश के कई हिस्सों में सरकार समर्थक रैली भी निकल रहे हैं। बीजेपी  से जुड़े लोग जगह-जगह जाकर सीएए और एनआरसी से बारे में समझा रहेे हैं।  इसी बीच गृहमंत्री अमित शाह ने एक रैली के दौरान कहा है कि सीएए कानून को सरकार किसी भी हालत में वापस नहीं लेगी।

 

You may also like