[gtranslate]
Country

‘बॉयज लॉकर रूम’ ग्रुप बनाने वाला लड़का नोएडा का रहने वाला, एक और ग्रुप का खुलासा

'बॉयज लॉकर रूम' मामले में नया खुलासा, 'सिद्धार्थ' नाम से लड़की करती थी रेप की बात

सोशल मीडिया पर ‘बॉयज लॉकर रूम’ ग्रुप चर्चा और चिंता का विषय बना हुआ है। इंस्टाग्राम पर इस ग्रुप की खबर सामने आने के बाद सनसनी मची हुई है। इस निजी चैट समूह के स्क्रीशॉट लीक होने के बाद अब देश में दुष्कर्म जैसे अपराधों पर एक बार फिर बहस छिड़ गई है। हालांकि, ग्रुप को बंद कराया जा चुका है लेकिन जो स्क्रीनशॉट लीक हुए हैं या शेयर किए गए हैं उनमें कम उम्र की लड़कियों की तस्वीरें साझा कर उनपर अश्लील कमेंट्स और उनके साथ सामूहिक दुष्कर्म जैसी प्लानिंग करने की बातें सामने आई हैं।

सोशल मीडिया पर कल से लगातार #BoysLockerRoom ट्रेंड कर रहा है। अश्लील चैट मामले के सामने आते ही दिल्ली की साइबर क्राइम सेल एक्टिव हो गई है और इसकी जांच में जुट गई है। सोशल मीडिया रिपोर्ट्स के आधार पर पुलिस ने मामला दर्ज किया है। इस मामले में कार्रवाई करते हुए दिल्ली पुलिस की साइबर सेल ने एक नाबालिग को गिरफ्तार किया है। साथ ही ग्रुप के लगभग सभी 21 सदस्यों की पहचान की जा चुकी है। छात्रों को उनके मोबाइल सहित पकड़ा गया है। अभी इसकी जाँच जारी है और पुलिस इस कड़ी से जुड़े और लोगों की तलाश कर रही हैं। इस मामले पर मुंबई पुलिस ने भी एक ट्वीट किया है।

नोएडा के लड़के ने बनाया था ग्रुप

इस मामले में एक नया खुलासा हुआ है जिसमें बताया जा रहा है कि यह ग्रुप नोएडा के एक लड़के ने बनाया था। इसने ही दूसरे लड़के को एडमिन बनाया था। साइबर सेल के अधिकारियों ने कहा कि उन्होंने इन लड़कों से पूछताछ की है। साइबर सेल ने अब तक दिल्ली और नोएडा के स्कूल के लड़कों की पहचान की है।

पुलिस की जांच में सामने आया है कि ग्रुप में सभी एक दूसरे को नहीं जानते थे। बस ये लड़के एक दूसरे से कनेक्ट होते गए और ग्रुप बनता गया। बताया जा रहा है कि इस ग्रुप में 18 साल के छात्र भी शामिल हैं। नोएडा के इस लड़के का कहना है कि उसने ग्रुप में कोई चैट नहीं की। उसने कई दिन बाद ये ग्रुप देखा तो पता लगा। ग्रुप में आठ से नौ लड़के ही सक्रिय थे। एक लड़की ने और लड़कियों को बताया। लड़कियों ने सारी बातें ट्विटर पर शेयर कर दी। इसके बाद लड़कों ने ग्रुप डिलीट कर दिया।

साइबर सेल के अधिकारियों के मुताबिक, इस ग्रुप में 4 ऐसे लड़के भी हैं जो स्कूल के स्टूडेंट हैं लेकिन उनकी उम्र 18 साल है यानी वो बालिग हैं।  साइबर सेल के अधिकारियों ने कहा कि उन्होंने इन लड़कों से पूछताछ की है। इनमें एक लड़का नोएडा के स्कूल का भी है। यही नहीं अश्लील चैट के लीक होने के बाद महिला आयोग की ओर से भी दिल्ली पुलिस के साथ इंस्टाग्राम को नोटिस जारी कर दिया गया है। साथ ही इंस्टाग्राम को 8 मई तक कुछ अन्य जानकारियों को उपलब्ध कराने का आदेश भी दिया गया है। वहीं आरोपियों के खिलाफ की गई एफआईआर की डिटेल्स भी मांगी गई है।

मालीवाल ने इंस्टाग्राम से जानकारी साझा करने को कहा

दिल्ली महिला आयोग की प्रमुख स्वाति मालीवाल ने इंस्टाग्राम से ग्रुप एडिमन, हैंडल नेम, आईपी एड्रेस, ईमेल जैसी कई अन्य जानकारियों को साझा करने के लिए कहा है। उन्होंने कहा कि इंस्टाग्राम एक सोशल मीडिया प्लैटफॉर्म है। ऐसे में प्लैटफॉर्म को इस बात पर नजर रखनी चाहिए साथ ही ध्यान इन सब पर ध्यान रखना चाहिए था और पुलिस को इस बारे में सूचित किया जाना चाहिए था। वहीं कांग्रेस पार्टी की महिला विंग ने भी गृहमंत्री अमित शाह का ध्यान इस ओर दिलाया है।

ऑल इंडिया महिला कांग्रेस ने ट्वीट किया है, “बॉयज लॉकर रूम कांड घृणित और यौन उत्पीड़न के अलावा और कुछ नहीं है। इसके लिए केंद्र सरकार ज़िम्मेदार है। क्योंकि यह दिल्ली का मामला है। लॉकडाउन के दौरान महिलाओं के खिलाफ साइबर अपराधों में तेजी आई है, लेकिन गृह मंत्रालय जिसे अमित शाह देखते हैं वह खर्राटे ले रहा है।”

बॉलीवुड जगत ने की निंदा

ये मामला इतना बढ़ गया है कि अब इस पर बॉलीवुड सेलेब्स ने भी अपनी प्रतिक्रिया दी है। बॉलीवुड एक्ट्रेस स्वरा भास्कर ने ट्वीट के जरिए अपना गुस्सा ज़ाहिर किया है। स्वरा ने ट्वीट करते हुए लिखा, “#boyslockerroom हमें ये कहानी बता रही है कि कैसे कम उम्र में ही लड़कों में जहरीली पुरुषवादी सोच पनपना शुरू होती है। कम उम्र के लड़के खुशी-खुशी प्लान कर रहे हैं कि वो नाबालिग लड़कियों का कैसे यौनशोषण और सामूहिक यौनशोषण करेंगे। परिवार को और टीचर्स को इन बच्चों के साथ उनकी इस सोच के बारे में बातचीत करनी चाहिए। ऐसे जघन्य अपराध को रोकने के लिए सिर्फ दुष्कर्मियों को फांसी पर लटकाना काफी नहीं है। हमें उस सोच पर वार करना होगा जो किसी पुरुष को दुष्कर्मी बनाती है।” रिचा चड्ढा ने भी इस पर अपनी नाराज़गी व्यक्त की है।

बालिका वधू फेम टीवी एक्टर शशांक व्यास ने भी इस मामले को लेकर अपना गुस्सा ज़ाहिर किया है। स्पॉटव्बॉय से बातचीत में शशांक ने कहा, “इस एक्ट को हल्के में नहीं लेना चाहिए। ऐसे लोगों के सामने जब तक कोई सख्त उदाहरण नहीं रखा जाएगा तब तक कोई ऐसी हरकत करने से नहीं डरेगा। कभी-कभी मुझे लगता है कि साइबर क्राइम एक शैतान है। सबसे पहले ऐसे पेजों को बैन किया जाना चाहिए, उसके बाद उन लोगों को भी जो इस पेज से जुड़े हैं या इसे चला रहे हैं, ताकि भविष्य में भी वो लोग ऐसी कोई प्रोफाइल न बना पाएं। मुझे लगता है पहली शिक्षा घर से आती है। लोगों को घर पर अच्छी शिक्षा देनी चाहिए, क्योंकि ज्यादार बच्चों की हरकतें इस बात पर निर्भर करती हैं कि बच्चों को घर पर क्या सिखाया जा रहा है और वो क्या सीख रहे हैं।”

क्या है बॉयज लॉकर रूम

https://www.instagram.com/p/B_vbkU4pKay/?utm_source=ig_web_copy_link

सोमवार से ही इंस्टाग्राम पर #BoysLockerRoom ट्विटर पर ट्रेंड कर रहा है। ब्वॉयज लॉकर रूम एक इंस्टग्राम ग्रुप का नाम है। इस ग्रुप के अधिकतर सदस्य स्कूली छात्र हैं। इस ग्रुप में स्कूली बच्चे लड़कियों की तस्वीरों को शेयर कर अश्लील बाते करते पाए गए हैं। साथ ही लड़कियों की तस्वीरों को शेयर कर उनसे सामूहिक दुष्कर्म तक करने की बात करते दिखे हैं। इस बात का खुलासा तब हुआ जब एक ट्विटर यूजर ने इस ग्रुप के स्क्रीनशॉट को सोशल मीडिया पर शेयर कर दिया और यह मामला देखते ही देखते सुर्खियों में आ गया।

दक्षिणी दिल्ली की एक लड़की के द्वारा इस मामले का एक स्क्रीनशॉट सोशल मीडिया पर शेयर किया गया था। इस पोस्ट को साझा करते हुए लड़की ने लिखा, “दक्षिण दिल्ली के 17-18 साल की उम्र के लड़कों का यह एक ग्रुप है, जिसका नाम ‘बॉयज लॉकर रूम’ है, जहां कमसिन की लड़कियों की तस्वीरों के साथ छेड़छाड़ कर उन्हें आपत्तिजनक बनाया जा रहा था। मेरे स्कूल के दो लड़के इसका हिस्सा हैं।” लड़की ने समूह में शामिल लड़कों की सूची और उनके चैट के स्क्रीनशॉट को भी साझा किया, जहां उन्हें लड़कियों की तस्वीरें साझा करते हुए और उन पर टिप्पणी करते हुए देखा जा सकता है।

एक और ग्रुप का खुलासा

इसी तरह ब्वॉयज लॉकर रूम के अतिरक्त एक लड़की निसका की ओर से एक और ग्रुप की चैट्स सार्वजनिक की गई हैं। इस दूसरे ग्रुप में लड़कियों को ‘पाठ पढ़ाने’ और ‘रेप’ करने की बातें की जा रही है। इस ग्रुप का नाम जय का स्कर्ट स्कर्ट गैंग बताया गया है। इस ग्रुप पर भी लड़कियों को धमकी दी जा रही है कि उनकी नग्न तस्वीरों को इंटरनेट पर वायरल कर दिया जाएगा। ब्वॉयज लॉकर रूम 2.0 नाम से एक और अकाउंट 4 मार्च को क्रिएट किया गया लेकिन बाद में उसे भी डिलीट कर दिया गया।

You may also like