[gtranslate]
Country

राजस्थान में भाजपा की मुश्किल होती डगर

आगामी 7 दिसंबर को वीरभूमि राजस्थान में होने वाले विधानसभा चुनावों के मद्देनजर आज आखिरकार कांग्रेस ने काफी जद्दोजहद के बाद प्रत्याशियों का ऐलान कर दिया। जिसमें 19 महिलाओं तथा 9 मुस्लिम प्रत्याशियों को भी स्थान दिया गया है। जबकि कांग्रेस संगठन के महासचिव अशोक गहलोत, प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सचिन पायलट और पूर्व केंद्रीय मंत्री सीपी जोशी के भी विधानसभा चुनाव लड़ने की घोषणा कर दी गई है। अशोक गहलोत जहां अपनी परंपरागत सीट सरदारपुरा से ही चुनाव लड़ेंगे वहीं सचिन पायलट पहली बार विधानसभा चुनाव लड़ने जा रहे हंै। दो दिन पूर्व कांग्रेस में उस समय असमंजस की स्थिति पैदा हो गई थी जब किसी ने प्रत्याशियों की फर्जी सूची जारी कर दी थी। तब मजबूरन एआईसीसी को अपने लेटरहैड पर बयान जारी करना पड़ा कि सूची फर्जी है। प्रत्याशियों की सूची जारी करने में भाजपा ने दो बार में 162 उम्मीदवारों की सूची जारी कर दी है। उम्मीदवारों की सूची जारी करने में बेशक भाजपा अव्वल है लेकिन राजनीतिक रुख को देखते हुए लग रहा है कि इस बार वह राजस्थान में पिछड़ रही है। शायद यही वजह है कि भाजपा को छोड़कर कई नेता कांग्रेस में ज्वाइन कर रहे हैं। इनमें से एक है दौसा के सांसद हरीश मीणा। मीणा के भाजपा छोड़कर कांग्रेस में आने से भाजपा में भगदड़ मच गई है। कई नेता कांग्रेस का पल्लू थाम चुके हंै जबकि अभी बहुत से लाइन में हंै। पांच बार के विधायक रहे हबीबुर्ररहमान को भी भाजपा ने टिकट नहीं दिया तो वह भी कांग्रेस की शरण में आ गए हंै। भाजपा में फिलहाल जो मुद्दा सबसे गरम है वह मुस्लिमों से किनारा करने का है। कांग्रेस ने जहां 19 मुस्लिमों को विधानसभा का टिकट देकर अल्पसंख्यक मतदाताओं पर अपनी पकड़ बरकरार रखी है, वहीं भाजपा ने मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के खासमखास और सरकार में नंबर दो कहे जाने वाले युनूस खान तक को टिकट नहीं देकर संस्पेंश बनाया हुआ है। इतिहासकारों ने मोहम्मद बिन तुगलक को विरोधाभासों के संगम की संज्ञा दी थी क्योंकि उनके फैसले योजना के उलट नतीजे देते थे। राजस्थान में भाजपा की ताजा चुनावी रणनीति भी परस्पर विरोधी नीतियों का संगम ही नजर आ रही है। भाजपा में ऐसे कई लोगों के टिकट काट दिए गए हैं जो पार्टी के लिए मुसीबत बनकर सामने आ रहे हंै। फिलहाल राजस्थान में भाजपा की डगर आसान नजर नहीं है।

You may also like

MERA DDDD DDD DD