Country

हरियाणा में भाजपा को चाहिए ‘भारत माता की जय’ बोलने वाले मतदाता  

 

   भाजपा की टिकटॉक स्टार सोनाली फोगाट ने विधायक बनने से पहले ही अपने तेवर दिखा दिए है। जिस तरह से सोनाली ने एक जनसभा में लोगो के भारत माता की जय ना बोलने पर उन्हें धमकाया और पाकिस्तानी कहा उससे मामला काफी तूल पकड़ गया है। लोग कह रहे है कि अभी तो वह विधायक भी नहीं बनी है अभी से हिटलरशाही दिखाने लगी है। लोग यह भी कह रहे है कि ऐसा कहकर वह भाजपा की एक कट्टर नेत्री के रूप में चर्चित होना चाहती है। जिसके चलते ही चर्चा में आने के लिए अनाप – शनाप बयान दे रही है।
गौरतलब है की भाजपा के टिकट पर हरियाणा की आदमपुर सीट से चुनाव लड़ रहीं सोनाली फोगाट मंगलवार को बालसमंद में एक चुनावी जनसभा को संबोधित कर रही थीं।  इस दौरान उन्होंने लोगों से भारत माता की जय बोलने को कहा।  जब कुछ लोगों ने ऐसा नहीं किया तो वह भड़क गईं और कहने लगीं कि पाकिस्तान से आए हो क्या? इतना ही नहीं सोनाली फोगाट ने यह भी कहा कि जो भारत माता की जय नहीं बोल पाए उनका वोट किसी काम का नहीं है।

बहरहाल ,सोनाली फोगाट के इस बयान पर विवाद हो गया है।  अब फोगाट ने इसके लिए माफी मांगी है। उन्होंने एक वीडियो जारी कर अपने बयान पर खेद जताया है। फोगाट ने कहा कि मैं बालसमंद गांव की बेटी हूं।  यहां सभा के दौरान जब मैंने भारत माता की जय बोला तो वहां मौजूदा कुछ लड़कों ने भारत माता की जय नहीं बोला। मैंने कहा कि क्या तुम पाकिस्तान से आए हो।  अगर ऐसा कहने पर किसी की भावना को ठेस पहुंची तो मैं माफी मांगती हूं।  इससे आगे सोनाली फोगाट ने कहा कि मैंने जो कहा उसका मकसद सिर्फ उन युवाओं को समझाना था। सोनाली ने कहा कि मैं अपने उन छोटे भाइयों को बताना चाह रही थी देश के सम्मान में भारत माता की जय बोलना चाहिए। बता दें कि सोनाली फोगाट टिकटॉक पर काफी मशहूर हैं।  हाल ही में सोशल मिडिया पर उनके वीडियो तेजी से वायरल हुए हैं। इसी बीच उनके साथ यह विवाद भी जुड़ गया है, जिस पर सोनाली ने माफी मांगी है। हालांकि हरियाणा की जनता उन्हें माफ़ करेगी या नहीं यह तो चुनाव परिणाम से समय ही पता चलेगा।

हिसार जिले में आने वाली आदमपुर विधानसभा सीट भजनलाल परिवार का गढ़ रही है।  बता दें कि भजनलाल परिवार के किसी भी सदस्य को आदमपुर विधानसभा सीट पर कभी भी हार का सामना नहीं करना पड़ा है।  खुद कुलदीप बिश्नोई तीन बार इस सीट से विधायक बन चुके हैं।  1967 में भजनलाल ने इस सीट से पहली बार चुनाव में जीत हासिल की थी। हालांकि 2019 के लोकसभा चुनाव के दौरान भजनलाल के पोते भव्य बिश्नोई आदमपुर विधानसभा सीट पर बीजेपी उम्मीदवार बृजेंद्र से करीब 23 हजार वोट से पिछड़ गए थे।

You may also like