[gtranslate]
Country

BJP ने बुलंदशहर हिंसा आरोपी को PM योजना का प्रचारक बनाया, हुई किरकिरी तो हटाया

BJP ने बुलंदशहर हिंसा आरोपी को PM योजना का प्रचारक बनाया, हुई किरकिरी तो हटाया

बुलंदशहर जिले में 2 साल पूर्व एक सांप्रदायिक आग लगी थी। जिसमें गोकशी की अफवाह के चलते एक पुलिस इंस्पेक्टर और एक युवक की हत्या कर दी गई थी। यह मामला पूरे देश में मीडिया की सुर्खियां बना था। इस मामले में भाजपा के एक नेता का नाम आया था । जिसे बाद में जेल भेज दिया गया था। यह भाजपा नेता एक बार फिर चर्चाओं में है।

हालांकि पिछले साल भी यह भाजपा नेता उस समय चर्चाओं में आ गया था जब उनकी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने उसे जमानत मिलने पर बकायदा ढोल नगाड़ा और फूलों से सम्मान करके शहर में लाया गया था। इस बार भाजपा के इस नेता को पार्टी से जुड़े एक संगठन ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जन कल्याण योजना जागरूकता अभियान का जिला पदाधिकारी बना दिया है ।इसके बाद विपक्षी दलों सहित सभी के निशाने पर भाजपा आ गई । मामले में अपनी किरकिरी होते देख फिलहाल यूटर्न मार दिया है । आज भाजपा के इस नेता को हटा दिया गया है। भाजपा जिलाध्यक्ष अनिल सिसोदिया ने संगठन और आरोपी से कोई संबंध होने से साफ इंकार कर दिया।

3 दिसंबर 2019 का वह काला दिन अभी तक कोई नहीं भूला है , जब बुलंदशहर के स्याना क्षेत्र के चिंगारावठी गांव में सांप्रदायिक चिंगारी दहक उठी थी । जिसमें तत्कालीन इस्पेक्टर सुबोध कुमार सहित एक सुमित नामक युवक की सरेआम हत्या कर दी गई थी। यह सनसनीखेज वारदात उस समय हुई थी जब इस क्षेत्र में गोकशी की अफवाह फैला दी गई थी । इसके बाद पुलिस ने 27 नामजद आरोपियों को जेल भेज दिया था । जबकि 60 अज्ञात लोगों के नाम भी रिपोर्ट में दर्ज हुए थे।

जिन लोगों को इस उपद्रव का मुख्य आरोपी बनाया गया उनमें एक बीजेपी का नेता शिखर अग्रवाल भी था । शिखर अग्रवाल को भी पुलिस ने पकड़ा था और जेल में डाल दिया था । पिछले साल दिसंबर में वह जब जमानत पर आया तो उसका भव्य स्वागत किया गया। फूल मालाओं से मुख्य आरोपी को लाद दिया गया था। इसके बाद पूरे देश में इस मामले पर काफी थू थू हुई थी।

हत्या के एक आरोपी को सम्मान देने की इस बात को 7 महीने भी नहीं बीते थे कि एक बार फिर से बीजेपी से संबंधित एक संगठन ने शिखर अग्रवाल को पदोन्नत कर डाला। शेखर अग्रवाल को प्रधानमंत्री जन कल्याण योजना जागरूकता अभियान का जिला बुलंदशहर का महामंत्री बनाया गया । यही नहीं बल्कि इसके लिए एक कार्यक्रम का आयोजन भी किया गया । जिसमें बुलंदशहर के भाजपा जिला अध्यक्ष अनिल सिसोदिया मुख्य अतिथि रहे । बात इतने तक ही सीमित नहीं बल्कि भाजपा के जिला अध्यक्ष अनिल सिसोदिया ने शेखर अग्रवाल को अपने हाथों से प्रधानमंत्री जन कल्याण योजना जागरूकता अभियान का जिला महामंत्री का लेटर हेड देकर पदोन्नति का सम्मान किया। यह कार्यक्रम 14 जुलाई को हुआ था।

इसके बाद आरोपी को भाजपा के जिलाध्यक्ष द्वारा पदोन्नति करने का फोटो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ। तब लोगों को पता चला कि बीजेपी से जुड़े एक संगठन ने अपने कार्यक्रम में भाजपा के जिलाध्यक्ष के हाथों इंस्पेक्टर सुबोध के हत्या के आरोपी को पद देकर सम्मान किया है। इसके बाद पूरे प्रदेश में विपक्ष को यह बड़ा मुद्दा मिल गया । पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव से लेकर कांग्रेस की प्रदेश महासचिव प्रियंका गांधी ने इस मामले पर सरकार की जमकर घेराबंदी की है । यही नहीं बल्कि इंस्पेक्टर सुबोध की पत्नी ने भी इस मामले को लेकर अपना आक्रोश किया और और कहा कि बीजेपी फिर से एक और विकास दुबे को पैदा कर रही है।

 

शहीद पुलिस इंस्पेक्टर सुबोध सिंह की पत्नी रजनी सिंह ने वीडियो में कहा है कि वह इससे काफी दुखी हैं। रजनी सिंह ने कहा कि मेरा सरकार से सवाल है कि वह अपराधियों को बढ़ावा देकर क्या दूसरा विकास दुबे पैैदा करने की कोशिश कर रहे हैं। या इनको हकीकत में नहीं पता होता कि जिलास्तर पर इनकी कार्यकारिणी में क्या होता है। उन्होंने कहा कि कहावत है न कि सौ खून माफ है, आप भाजपा का टिकट ले लीजिए।

प्रियंका गांधी वाड्रा ने इनका वीडियो शेयर करते हुए कहा कि यूपी पुलिस में अपनी सेवाएं देते हुए शहीद हुए सुबोध सिंह जी की पत्नी का बयान सुनिए। खबरों के अनुसार उनकी हत्या के आरोपी को आज भाजपा ने अपना पदाधिकारी बना दिया। उनकी पत्नी का सवाल एकदम जायज है। इस तरह से अपराधियों का मनोबल और बढ़ेगा।

You may also like

MERA DDDD DDD DD