[gtranslate]
Country

भाजपा को जल्दी ही अलविदा कह सकते हैं शत्रुघ्न सिन्हा

नई दिल्ली। वित्तमंत्री अरुण जेटली से भगौड़े करोबारी विजय माल्या की मुलाकात को मुद्दा बनाकर विपक्ष सरकार पर तीव्र हमले कर रहा है। कांग्रेस की हर संभव कोशिश इसे चुनावी मुद्दा बनाने की है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को लपेटे में लिया जा रहा है कि वे वित्तमंत्री को हटाएं। विपक्षी हमलों के बीच भाजपा के भीतर से ही पार्टी के वरिष्ठ नेता और अभिनेता शत्रुघ्न सिन्हा ने भी एक बार फिर से प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर पर हमला किया है। खास बात यह है कि उन्होंने हमला ही नहीं किया, बल्कि इस बात के संकेत भी दिये हैं कि जरूरी नहीं कि वे अगला चुनाव भाजपा के टिकट पर ही लड़ें। राजनीतिक विश्लेषक उनके लगातार हमलों का यही निष्कर्ष निकाल रहे हैं कि जल्दी ही वे भाजपा को अलविदा कह सकते हैं।
गौरतलब है कि कुछ समय पहले शत्रुघ्न सिन्हा आम आदमी पार्टी के मंच पर दिखाई दिए थे। उसी समय से कयास लगाये जाने लगे थे कि वे आगामी चुनाव आम आदमी पार्टी के टिकट पर उत्तर-पूर्व दिल्ली से लड़ सकते हैं। यहां वे सीट निकालने की प्रबल स्थिति में भी होंगे। शत्रुघ्न सिन्हा ने इन कयासों को एक बार फिर हवा दी है। पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों और राफेल सौदे के मुद्दे को लेकर उन्होंने सीधे-सीधे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर तीखे हमले  किये हैं। उन्होंने ट्वीट कर कहा है कि पेट्रोल-डीजल की कीमतों में वृद्धि, डॉलर के मुकाबले रुपए की गिरती कीमत या राफेल सौदे का मामला हो, इनमें से हम किसी का हल करने में सक्षम नहीं हैं। उन्होंने कहा कि आम जनता तू-तू, मैं- मैं के आरोप-प्रत्यारोप के खेल में फंसना नहीं चाहती है। उसे परिणाम चाहिए। उन्होंने वर्तमान स्थिति की तुलना नीम चढ़े हुए करेले से की है।
शत्रुघ्न यहीं नहीं रुके। अपनी दूसरी पोस्ट में उन्होंने कहा कि लोग महाभारत के धृतराष्ट्र की तरह महसूस कर रहे हैं। वे केवल एक ही सवाल पूछ रहे हैं कि ‘ये सब क्या हो रहा है?’ उन्होंने प्रधानमंत्री पर आरोप लगाया है कि बिना आपके आशीर्वाद, सहमति और पुष्टि के विशेष मामलों को दबाया गया, विश्वास करना मुश्किल है। लोग कुछ समय से दावा कर रहे हैं कि हमारे लोग अधिकांश मीडिया पर नियंत्रण रखते हैं?

You may also like

MERA DDDD DDD DD