2020 से अब आपकी हर हरकत पर हो सकती हैं,नेटग्रिड  की नज़र। देश की सुरक्षा को मजबूत बनाने के लिए अगले साल नेटग्रिड  लॉन्च किया जा रहा हैं। लगभग 3400 करोड़ की लागत का यह प्रोजेक्ट हैं। इस प्रोग्राम के जरिये आपकी हवाई व ट्रैन  यात्रा,बैंकिंग,करदाताओं जैसी आपकी विशेष जानकारी आपकी सुरक्षा एजेंसी को निर्धारित समय पर मिलेगी।

नेटग्रिड  में पहले चरण में 10 यूजर एजेंसीयों और 21 सेवा प्रदाताओ को शामिल किया गया हैं ,बाद में अन्य संगठनों को भी इसमें जोड़ा जाएगा।

अब आपकी किसी बाहरी देशी-विदेशी आने जाने तथा क्रेडिट कार्ड की द्वारा  की खरीदारी  सभी डाटा नेटग्रिड में संग्रहीत होगी, दरअसल मुंबई में 26 नवंबर 2008 को हुए आतंकी हमले के बाद राष्ट्रीय खुफिया ग्रिड परियोजना स्थापित करने का विचार आया था। भारत में आतंकवाद को रोकने के लिए नेटग्रिड में डाटा को खुफ़िआ एजेंसी को संग्रहित किया जाएगा। जिससे उनको किसी भी कार्यवाही में उनके पास एक  ठोस सूचना  होंगी।

ये एजेंसी को मिलेगा डाटा 

यह समिति में 22 एजेंसिया होंगी।जिनमें इनटेलिजेंस ब्यूरो (आईबी), रिसर्च एंड एनालिसिस विंग (R&AW), केंद्रीय जांच ब्यूरो (CBI), वित्तीय खुफिया इकाई (FIU), राजस्व खुफिया निदेशालय (DRI), और सेंट्रल बोर्ड ऑफ डायरेक्ट टैक्सेस (CBDT) आदि  शामिल हैं।

You may also like