Country

बालकृष्ण लौटे पतंजलि,पेड़े में जहर मिलाने वाला कौन

पतंजलि योग संस्थान के महामंत्री और सी. ई . ओ . आचार्य बालकृष्ण दो दिन एम्स में इलाज कराने के बाद स्वास्थ्य उपचार कराकर शनिवार की शाम पतंजलि लौट चुके हैं। उनके स्वास्थ्य लाभ के लिए दो दिन तक दुवाओं का दौर चला। देश ही नही बल्कि पड़ोसी  देश नेपाल जहाँ उनका पैतृक निवास है  वहां  से भी उनके लिए लोगों ने दुवाएं दी। दो दिन के इस घटनाक्रम से पूरे देश में चर्चाओ का दौर भी जारी है।

जिसमें बालकृष्ण को खाने में जहर दिये जाने के मामले को गंभीरता से लिया जा रहा है। लोग सवाल कर रहे हैं कि आखिर वह कौन है जो बालकृष्ण को जहर देकर मारना चाहता है?

हालांकि शुक्रवार को पहले हरिद्वार से पहले यह सूचना आई कि बालकृष्ण को दिल का दौरा पडा है। लेकिन योग गुरु रामदेव ने ही एक वीडियो के जरिए यह जानकारी दी कि उनके पेड़े में किसी ने कुछ ऐसी चीज खिला दी थी जिससे उन्हें फुड प्वाईजनिंग हुआ।

रामदेव ने कहा था कि पतंजलि समूह के सी.ई.ओ. आचार्य बालकृष्ण को खाने में नशीली चीज दी गई थी जिसके चलते वह करीब 5 घंटे पूरी तरह से बेहोश रहे। उन्हें खाने में दी गई संदिग्ध चीज का असर उनके दिमाग पर हुआ। यह खुलासा खुद योग गुरु स्वामी रामदेव ने किया । शुक्रवार को अचानक तबीयत बिगडऩे पर आचार्य बालकृष्ण को एम्स ऋषिकेश में भर्ती कराया गया था। पहले चर्चा फैली कि बालकृष्ण ने सीने में दर्द की शिकायत की और उन्हें हार्ट अटैक आया है। बाद में इसे फूड प्वाइजनिंग कहा जाने लगा।

स्वामी रामदेव ने कहा था कि उन्होंने एम्स के निदेशक डॉ. रविकांत से सीधे बात की। उस समय कुछ पता नहीं चल रहा था। इतना तो पता चल रहा था कि किसी ने पेड़ा खिलाया और उसके 15 मिनट बाद ही उनका बी.पी. डाउन हुआ। फिर वह बेहोश हो गए। अस्पताल में जांच से पता चला कि हार्ट, लिवर, किडनी सब कुछ ठीक है। ब्रेन की एमआरआई भी की गई। फिर भी पता नहीं चल रहा था कि बेहोशी की स्थिति क्यों बनी।

इसके बाद शुक्रवार रात को 10 बजे यूरिन रिपोर्ट से पता चला कि खाने में कोई नशीली चीज दी गई थी। फिलहाल शनिवार की शाम को स्वास्थ्य ठीक होने पर आचार्य बालकृष्ण को एम्स से डिस्चार्ज कर दिया गया। वह पतंजलि में लौट चुके है।

स्वामी रामदेव ने जिस तरह से बालकृष्ण को नशीली चीज दिए जाने के मामले का खुलासा किया है, उससे साजिश की बू आ रही है। रामदेव ने कहा कि बड़ी दुर्घटना होते-होते बच गई। उनके मुंह से साजिश भी निकला लेकिन साथ ही उन्होंने यह भी जोड़ा कि जाने-अनजाने में जो भी हुआ, उसकी जांच कराएंगे। हालांकि इस सबके पीछे कौन हो सकता है, इसका जवाब रामदेव ने नहीं दिया।

You may also like