[gtranslate]
Country

देशभर आज मनाया जा रहा है बकरीद पर्व

कोरोना काल के  बीच दुनियाभर में आज बकरीद पर्व मनाया जा रहा है।जिसको लेकर देश की राजनीतिक  से लेकर बड़ी हस्तियां देशवाशियों को मुबारकबाद दे रहे हैं। इस्लाम धर्म में इस पर्व का विशेष महत्व है, क्योंकि आज के दिन पशुबलि देने से अल्लाह प्रसन्न होते हैंं। ऐसा कहा जाता है कि इस्लाम मजहब की मान्यता के अनुसार, अल्लाह ने हजरत इब्राहिम से सपने में उनकी सबसे प्रिय चीज की कुर्बानी मांगी थी। हजरत इब्राहिम अपने बेटे से बहुत प्यार करते थे, लिहाजा उन्होंने अपने बेटे की कुर्बानी देने का फैसला किया। अल्लाह के हुक्म की फरमानी करते हुए हजरत इब्राहिम ने जैसे ही अपने बेटे की कुर्बानी देनी चाही तो अल्लाह ने एक बकरे की कुर्बानी दिलवा दी। कहते हैं तभी से बकरीद का त्योहार मनाया जाने लगा। इसलिए ईद-उल-अजहा यानी बकरीद हजरत इब्राहिम की कुर्बानी की याद में ही मनाया जाता है।

बकरीद को ईद-उल-अजहा, ईद-उल-जुहा, बकरा ईद, के नाम से जाना जाता है। इस्लामिक कैलेंडर के अनुसार हर साल बकरीद 12वें महीने की 10 तारीख को मनाई जाती है। यह रमजान माह के खत्म होने के लगभग 70 दिनों के बाद मनाई जाती है। बकरीद पर कुर्बानी देने की प्रथा है। यह इस्लाम मजहब के प्रमुख त्योहारों में से एक है।

बकरीद के मौके पर देश के महामहीम राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविंद, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी समेत देश की दिग्‍गज हस्तियों ने मुबारकबाद दी है। राष्‍ट्रपति ने जहां अपने संदेश में इस त्‍योहार के मायने समझाते हुए सभी से कोविड-19 की रोकथाम के लिए गाइडलाइंस का पालन करने की अपील की। वहीं प्रधानमंत्री ने दुआ मांगी कि भाईचारे और दया की भावना  बढ़े। कोरोना वायरस के मद्देनजर, ईद उल अजहा की नमाज सोशल डिस्‍टेंसिंग के साथ पढ़ी गई। कई जगह लोगों से अपील की गई थी कि वे अपने घर पर नमाज पढ़ें। केंद्रीय मंत्री मुख्‍तार अब्‍बास नकवी ने दिल्‍ली में अपने घर पर नमाज अदा की।

राष्‍ट्रपति ने दी मुबारकबाद

यह दिन हमें एक समावेशी समाज बनाने की प्रेरणा दे: पीएम

अल्पसंख्यक मामलों के मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने बकरीद की नमाज अपने घर पर अदा की। उन्‍होंने  कहा, “ईद-उल-अजहा की सभी देशवासियों को बहुत-बहुत शुभकामनाएं। जिस तरह का कोरोना संकट आज पूरी दुनिया के सामने है।उसकी वजह से इबादत तो हो रही है लेकिन हिफाजत के साथ और इस इबादत में जुनून और जज्‍बे में कमी नहीं है।”

वन मंत्री ने भी दीं शुभकामनाएं

ऐसे मनाई जाती है बकरीद
बकरीद पर इस्लाम धर्म के लोग साफ-पाक होकर नए कपड़े पहनकर नमाज पढ़ते हैं। नमाज पढ़ने के बाद कुर्बानी दी जाती है। ईद के मौके पर लोग अपने रिश्तेदारों और करीबों लोगों को ईद की मुबारकबाद देते हैं। ईद की नमाज में लोग अपने लोगों की सलामती की दुआ करते हैं। एक-दुसरे से गले मिलकर भाईचारे और शांति का संदेश देते हैं। बाजारों में भी रौनक दिखाई देती है।

You may also like

MERA DDDD DDD DD